close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अजमेर: छात्रसंघ चुनाव के लिए नामांकन से पहले कैम्पस में हो रहा जमकर प्रचार

अजमेर में एमडीएस विश्वविद्यालय के साथ ही सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविधालय, डीएवी कॉलेज, राजकीय कन्या महाविद्यालय, श्रमजीवी कॉलेज, सहित आठ केम्पस में कल छात्रसंघ चुनावों के नामांकन का दिन रहेगा.

अजमेर: छात्रसंघ चुनाव के लिए नामांकन से पहले कैम्पस में हो रहा जमकर प्रचार
प्रतीकात्मक तस्वीर

मनवीर सिंह, अजमेर: प्रदेश में छात्रसंघ चुनाव के लिए शुक्रवार को नामांकन भरे जाने हैं. इससे पहले गुरुवार को अजमेर में एमडीएस विश्वविद्यालय सहित सभी केम्पस में छात्रसंघ चुनाव कि रौनक परवान पर नजर आई. नामांकन से पहले आज सभी उम्मीदवारों ने प्रचार में अपनी ताकत झौंकी जिसका असर शोरशराबे के रूप में लगभग हर केम्पस में देखने को मिला. वहीं लिंगदोह कमेटी कि सिफारिशों के चलते की जा रही सख्ती का असर भी साफ तौर पर केम्पस में नजर आया. 

अजमेर में एमडीएस विश्वविद्यालय के साथ ही सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविधालय, डीएवी कॉलेज, राजकीय कन्या महाविद्यालय, श्रमजीवी कॉलेज, सहित आठ केम्पस में कल छात्रसंघ चुनावों के नामांकन का दिन रहेगा. यही वजह है कि आज अजमेर के लगभग हर केम्पस में छात्रसंघ चुनाव का शोर सुनाई दिया. नामांकन से पहले आज चुनाव लड़ने के इच्छुक छात्र नेताओं और छात्र संगठनो ने अपनी ताकत का इजहार किया. अजमेर के सभी केम्पस चुनावी शोर का केंद्र बने. छात्र नेताओं ने रैलियों के माध्यम से अपनी ताकत का प्रदर्शन कर जीत के दावे किए.

छात्रसंघ चुनाव के इस शोर में कोलेज प्रशासन का पूरा ध्यान इसी तरफ है कि कंही लिंगदोह कमेटी कि सिफारिशों का उलंघन ना हो जाए. यही वजह रही कि हर केम्पस में चुनाव संचालन समितिया चुनाव प्रचार पर कड़ी नजर जमाए हुए है. इस बात का ध्यान रखने का प्रयास किया जा रहा है कि अतिउत्साह में छात्र लिंगदोह कमेटी कि सिफारिशों को दरकिनार ना कर बैठे. राजकीय महाविधालय में तो बाकायदा प्रिंसिपल द्वारा चुनाव लड़ने के इच्छुक छात्र नेताओं की बैठक आयोजित कर उन्हें दिशा निर्देश जारी किए गए. 

राजकीय महाविधालय में कल होने वाले नामांकन को लेकर भी व्यापक स्तर पर तैयारिया कि जा रही है. तय किया गया है कि कल केवल महाविधालय में उन्ही छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा जो उम्मीदवार के रूप में नामांकन भरने आ रहे है या फिर उम्मीदवार के प्रस्तावक है. राजकीय महाविद्यालय ने नामांकन के जुलुस पर भी पाबंदी लगाई गई है.