अजमेर का मुस्लिम मोती मोहल्ला बना कोरोना Hotspot, मरीजों की संख्या पहुंची 100

 अजमेर में सबसे बड़ी मुसीबत बना मुस्लिम मोची मोहल्ले में लगातार कोरोना वायरस (Coronavirus) मरीजों की संख्या बढ़ रही है.

अजमेर का मुस्लिम मोती मोहल्ला बना कोरोना Hotspot, मरीजों की संख्या पहुंची 100
मुस्लिम मोची मोहल्ले से जुड़े मरीजों की संख्या अब बढ़कर 100 पहुंच गई है.

अशोक सिंह भाटी/अजमेर: राजस्थान के अजमेर में हॉटस्पॉट (Hotspot) बने मुस्लिम मोती मोहल्ले से एक बार फिर 10 कोरोना के मरीज सामने आए हैं. इन सभी की, पहली रिपोर्ट नेगेटिव आई थी. लेकिन दूसरी रिपोर्ट में यह पॉजिटिव मिले हैं. मुस्लिम मोची मोहल्ले से जुड़े कोरोना मरीजों की संख्या अब बढ़कर 100 पहुंच गई है.

दरअसल, अजमेर में सबसे बड़ी मुसीबत बना मुस्लिम मोची मोहल्ले में लगातार कोरोना वायरस (Coronavirus) मरीजों की संख्या बढ़ रही है. अजमेर में रविवार सुबह 9 बजे तक में, 11 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं. इसके बाद, अजमेर का आंकड़ा बढ़कर 123 हो गया है.

अजमेर सीएमएस के.के. सोनी के अनुसार, यह सभी पहले से ही ख्वाजा मॉडल स्कूल में क्वारेंटाइन किए गए थे. इसके अलावा क्षेत्र में लगातार स्क्रीनिंग का कार्य किया जा रहा है. वहीं, प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले में अजमेर जिला चौथे स्थान पर पहुंच गया है.

जिले में लगातार बढ़ रहे मामलों से अजमेर वासियों की चिंता बढ़ने लगी है. अजमेर में हॉटस्पॉट बने मुस्लिम मोची मोहल्ले में कोरोना वायरस मामलों की संख्या भी 100 तक पहुंच गई है. इसे लेकर जिला पुलिस प्रशासन के साथ ही, चिकित्सा विभाग मुस्तैद है. साथ ही, इसे रोकने का प्रयास लगातार किया जा रहा है.

सीएमएस डॉ. के.के. ने कहा कि, इस बीमारी से बचने का एक ही इलाज है, वह है सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing).इसके लिए लोगों से कई बार अपील की गई है. लेकिन फिर भी लोग लगातार एक-दूसरे के संपर्क में आ रहे हैं, जिसके कारण यह मामले बढ़ रहे हैं.

बता दें कि, अजमेर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा का गृह जिला है. जिसे लेकर अजमेर में सतर्कता तेज करते हुए पुलिस प्रशासन ने भी चार थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू (Curfew) लगाया है. लेकिन हॉटस्पॉट बने मुस्लिम मोची मोहल्ले में संक्रमितों की लगातार बढ़ रही संख्या, जिला प्रशासन के लिए मुसीबत बनी हुई है.