Ajmer कारखाने में तैयार हुआ LPG वैगान, रेलवे को All Rounder की तलाश

Ajmer Samachar: रेलवे महाप्रबंधन ने बताया कि राजस्थान में विभिन्न प्रोजेक्ट रोके गए थे. राजस्थान सरकार अगर उन पर प्रयास करें तो यह कार्य PPP मॉडल पर शुरू किए जा सकते हैं. 

Ajmer कारखाने में तैयार हुआ LPG वैगान, रेलवे को All Rounder की तलाश
अजमेर रेल कारखाने में तैयार हुआ एलपीजी गैस वैगान. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Ajmer: अजमेर कारखाने (Ajmer Rail Factory) के लिए शनिवार का गौरव का क्षण था, जब कारखाने में पहली बार तैयार हुए एलपीजी गैस वैगन ( LPG gas wagon) रवाना भी किया गया. उत्तर पश्चिमी रेलवे के महाप्रबंधक आनंद प्रकाश ने कारखाने का निरीक्षण करने के साथ ही सोलर प्लांट (Solar Plant) का शुभारंभ किया. उन्होंने कारखाने में व्यवस्थाओं का जायजा लिया. 

रेलवे महाप्रबंधक ने कहा कि देश में निजी करण को लेकर चर्चाएं चल रही हैं. एक सर्वे के अनुसार, 50 प्रतिशत  कर्मचारियों को सरेंडर करने की बात सामने आई है और 65 फीसदी रेलवे का बजट केवल स्टाफ की सैलरी में ही खर्च होता है. ऐसे में रेलवे द्वारा ऑलराउंडर कर्मचारियों की तलाश है. 

उन्होंने कहा कि अजमेर में 75 फीसदी ट्रेनों का संचालन शुरू कर दिया गया है और कोविड-19 महामारी के चलते बंद कई विभिन्न कार्य भी फिर से गति पकड़ने लगे हैं. अच्छी खबर ये है कि रेलवे महाप्रबंधन ने बताया कि रेलवे भर्ती को लेकर भी विचार-विमर्श कर कार्य कर रहा है और जरूरत पड़ने पर ही भर्ती की जा रही है.  

जून तक पूरा होगा विद्युतीकरण 
अजमेर में रेलवे विद्युतीकरण का काम जून माह तक पूरा कर लिया जाएगा और DFCC का कार्य भी प्रगति पर है. जिसे भी अप्रैल तक पूरा करने के संकेत है. रेलवे महाप्रबंधन ने बताया कि राजस्थान में विभिन्न प्रोजेक्ट रोके गए थे. राजस्थान सरकार अगर उन पर प्रयास करें तो यह कार्य PPP मॉडल पर शुरू किए जा सकते हैं. 

जानकारी के अनुसार, रेलवे की कई संपत्तियां ऐसी है जहां पर पीपीपी मॉडल पर देने को लेकर विचार किया जा रहा है. लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते इन्वेस्टर नहीं आ पा रहे है. ऐसे में जैसे ही इन्वेस्टर आते हैं उन पर भी विचार किया जा रहा है. रेल डबलिंग का कार्य भी लगभग पूरा हो चुका है. 21 मार्च तक अजमेर मंडल में यह कार्य पूर्ण हो जाएगा. साथियों ने अजमेर रेलवे मंडल के सराहना की और कोविड-19 गाइडलाइन की पालना करते हुए कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए. 

राष्ट्र का गौरव है अजमेर रेल कारखाना 
पांच साल पहले रेल मंत्रालय की ओर से अजमेर रेल कारखाना को राष्ट्रीय स्तर पर सर्वे श्रेष्ठ कारखाने का अवार्ड दिया गया था. 140 सालों के इतिहास में यह पहली बार है, जब अजमेर रेल कारखाने को यह गौरव प्राप्त हुआ था. कैरिज कारखाना की स्थापना वर्ष 1884 में हुई थी. कारखाने में कैरिज एवं वैगन के निर्माण का कार्य किया जाता था. साथ ही वर्ष 1902 में कारखाने मे स्टील कास्टिंग के उत्पादन के कारण देश में यह कारखाना प्रथम स्थान पर रहा है. यहां आधुनिकीकरण कार्य वर्ष 1986-1992 के बीच किया गया. गेज कनवर्जन का कार्य वर्ष 1995-1996 में किया गया.
 
कैरिज कारखाने में वर्तमान में सवारी डिब्बों, पैलेस ऑन व्हील एवं RROWU के आवधिक मरम्मत का कार्य उच्च गुणवत्ता के साथ किया जा रहा है. दिसंबर 2015 में अजमेर कारखाना समूह को ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में भी सराहनीय कार्य करने हेतु राष्ट्रीय स्तर पर द्वितीय स्थान प्राप्त हुआ था. 

Sujit Kumar Niranjan, News Desk