अजमेर: छात्रसंघ चुनाव में हारने वाले संगठन SFI ने भीम सेना पर उतारा गुस्सा

दबंगों ने मारपीट करते वक्त इसका वीडियो भी बनाया और उस वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया.

अजमेर: छात्रसंघ चुनाव में हारने वाले संगठन SFI ने भीम सेना पर उतारा गुस्सा
मारपीट का मामला मौलासर थाने में एससी एसटी एक्ट में दर्ज किया गया है.

डीडवाना: प्रदेश के छात्रसंघ चुनाव में भीम सेना ने अपनी जीत दर्ज करवाकर अपना परचम लहराया. मगर भीम सेना की यह जीत इलाके के दबंगों को रास नहीं आई. दबंगो को एक दलित का अध्यक्ष बनना इतना नागवार गुजरा कि पांच दबंगो ने छात्र संघ अध्यक्ष हरलाल बरवड़ के गांव में निकाले जा रहे विजय जुलूस में घुसकर भीम सेना के एक कार्यकर्ता को निकाल कर अगुआ कर लिया. 

इसके बाद ये दबंग उस कार्यकर्ता को ललासरी गांव से बाहर ले गए. जहां जाकर दबंगों ने नुवां गांव निवासी छात्र रणजीत के साथ गंभीर मारपीट की. यही नहीं दबंगों ने मारपीट करते वक्त इसका वीडियो भी बनाया और उस वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया. जिसमें दबंगो ने यह मैसेज देने की कोशिश की कि उनके हिसाब से चुनाव नहीं लड़ा तो अंजाम इस तरह भुगतना पड़ेगा. खबर के मुताबिक मारपीट करने वाले छात्र एसएफआई छात्र संगठन के बताए जा रहे है. 

जी मीडिय ने जब इस वाइरल वीडियो की पड़ताल करते हुए पीड़ित छात्र से इस मामले की जानकारी ली तो तो सामने आया कि छात्रसंघ चुनाव में विजयी हुए छात्र हरलाल बरवड़ के विजय जुलूस में छात्र रणजीत मेघवाल भी शामिल हुए था. जश्न के बाद जब रणजीत अपने गांव नुवां जा रहा था तभी उसको बाइक सवार कुछ युवकों ने घेर लिया और अपने साथ ले गए. जिसके बाद इन दबंगो ने उसके साथ मारपीट की. इसी दौरान इनमें से एक छात्र ने इस पिटाई का वीडियो बनाकर इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया

मामले की हमने पूरी तरह से पड़ताल की तो जानकारी में आया कि चुनाव में विजयी हुआ छात्र पहले एसएफआई का कार्यकर्ता था. उसने अध्यक्ष पद का एसएफआई से टिकट भी मांगा था. मगर एसएफआई द्वारा हरलाल को टिकट नहीं दिया गया तो हरलाल ने भीम सेना के बैनर से चुनाव लड़कर अपनी जीत दर्ज करवाकर अपना परचम लहरा दिया. मगर यह जीत और जश्न एसएफआई के दबंग कार्यकर्ताओ को पच नहीं पाई. जिसके कारण उन्होने भीम सेना के कार्यकर्ता से मारपीट की.

फिलहाल मारपीट का मामला मौलासर थाने में एससी एसटी एक्ट में दर्ज किया गया है. मामले की जाच डीडवाना वृताधिकारी रघुवीर प्रसाद शर्मा कर रहे है. मामले का वीडियो वायरल होने के बाद एक तरफ जहां दलित समाज के लोगों में रोष हैं वहीं समाज के लोगों ने आज उपखण्ड अधिकारी को भी ज्ञापन सौंपा. उपखण्ड अधिकारी ने भी मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच अधिकारी को कानून सम्मत कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. वहीं इस मामले में भीम सेना ने कार्रवाई नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है.