अजमेर: मेयो मामले में दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई- मंत्री अनीता भदेल

मेयो का 11वीं कक्षा का एक छात्र अपने वरिष्ठों से बचने के लिए संस्थान की दीवार पर चढ़ गया. वरिष्ठ छात्र कथित तौर पर उसे यातना देते रहते थे.

अजमेर: मेयो मामले में दोषियों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई- मंत्री अनीता भदेल

अजमेर: राज्य की महिला व बाल कल्याण मंत्री अनीता भदेल ने शुक्रवार को कहा कि अजमेर के मेयो कॉलेज परिसर में एक नाबालिग छात्र के यौन उत्पीड़न मामले में दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. उन्होंने मीडिया से कहा कि सही तथ्यों को सामने लाने के लिए मामले में एक निष्पक्ष जांच शुरू की गई है. उन्होंने कहा कि प्रशासन व सरकार दोनों ने मामले को गंभीरता से लिया है.

सूचना के अनुसार, मेयो का 11वीं कक्षा का एक छात्र अपने वरिष्ठों से बचने के लिए संस्थान की दीवार पर चढ़ गया. वरिष्ठ छात्र कथित तौर पर उसे यातना देते रहते थे. छात्र के परिवार के सदस्यों ने 28 जुलाई, 2018 को पुलिस में शिकायत दर्ज कराई.

अजमेर के पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह ने पुष्टि की कि पीड़ित एक नाबालिग है और अलवर गेट पुलिस थाने (अजमेर) ने पाक्सो अधिनियम के तहत छह छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया है और जांच जारी है. उन्होंने कहा कि सभी छात्र कक्षा 12वीं के हैं.

पीड़ित ने अपने वरिष्ठों पर उसकी पिटाई करने, यौन शोषण करने और उस पर मांसाहारी खाना व शराब पीने के लिए बाध्य करने का आरोप लगाया है. सूत्रों के अनुसार, छह छात्रों में से पांच हरियाणा के राजनेताओं, वरिष्ठ अधिकारियों व व्यापारियों के बच्चे हैं.

इस बीच, एनएसयूआई से जुड़े छात्रों ने शुक्रवार को मेयो कॉलेज के बाहर स्कूल प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया और कॉलेज के निदेशक का पुतला जलाया. हालांकि, पुलिस अब भी इस मामले पर कुछ भी बोलने से बच रही है. वहीं छात्र के साथ स्कूल में 15 दिनों तक सीनियर्स ने यौन शोषण किया था. जिसके बाद 28 जुलाई को इस मामले में शिकायत दर्ज कराई गई थी. 

(इनपुट आईएएनएस)