Tonk की इस सरपंच ने पेश की मिसाल, पूरे घर को ही बना दिया क्वारेंटाइन सेंटर

सरपंच शीला राजकुमार मीणा ने बताया कि कोरोना महामारी के दूसरे दौर में तेजी से बढ़ते संक्रमण से निबटने के लिए जनप्रतिनिधि की भागीदारी आवश्यक है.  

Tonk की इस सरपंच ने पेश की मिसाल, पूरे घर को ही बना दिया क्वारेंटाइन सेंटर
इसमें 50 बेड तक कोरोना मरीज के लिए बेड उपलब्ध रहेंगे.

Tonk: जिले में टोडारायसिंह (Todraisingh) की बोटूंदा ग्राम पंचायत सरपंच शीला राजकुमार मीणा (Sheela Rajkumar Meena) ने स्वयं की पंचायत में कोविड-19 महामारी (Covid-19 Epidemic) से निबटने के लिए अपने कुरासिया गांव स्थित पूरे घर को क्वारेंटाइन सेंटर बना दिया है ताकि कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) होने पर ग्रामीणों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो. 

यह भी पढ़ें- Tonk में रंग ला रही Sachin Pilot की कवायद, खत्म होने लगी Oxygen crisis

सरपंच शीला राजकुमार मीणा ने बताया कि कोरोना महामारी के दूसरे दौर में तेजी से बढ़ते संक्रमण से निबटने के लिए जनप्रतिनिधि की भागीदारी आवश्यक है.

यह भी पढ़ें- सज-धज कर जा रहे थे शादी की दावत खाने, Police ने महिलाओं सहित 30 को किया क्वारेंटाइन

ऐसे में ग्राम पंचायत बोटूंदा के ग्रामीणों को किसी प्रकार की परेशानी न हो, इसके लिए उन्होंने जनहित में आवश्यकता पड़ने पर उनकी पंचायत के ग्राम कुरासिया में स्थित दो मंजिला मकान को क्वारेंटाइन सेंटर बनाने का निर्णय लिया है. जहां पर कोरोना मरीज के लिए 50 बेड तक की व्यवस्था मुहैया कराई जाएगी, जिनके लिए भोजन व दवा आदि की व्यवस्था भी करवाई जाएगी. आवश्यकता पड़ी तो ऑक्सीजन सिलेंडर भी मंगवाए जाएंगे.

क्वारेंटाइन सेंटर पर ये रहेगी सुविधाएं
इसमें 50 बेड तक कोरोना मरीज के लिए बेड उपलब्ध रहेंगे. साथ ही मरीज को सुबह शाम स्वयं की ओर से भोजन और नाश्ता चाय दिया जाएगा. जिसके लिए मकान के एक हिस्से में रसोई बनाई जाएगी. उपचार के दौरान मरीज को सामान्य दवा तो वे स्वयं उपलब्ध करवा देंगे लेकिन रेमडीशिवर इंजेक्शन और ऑक्सीजन सिलेण्डर की व्यवस्था के लिए प्रशासन से सहयोग लेकर ही मंगवाए जा सकेंगे. मरीजों के समय समय पर चेकअप के लिए चिकित्सक और कम्पाउंडर लगाने हेतु प्रशासन से सहयोग लिया जाएगा.

Reporter- Purushottam Joshi