राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के सभी कार्यकारिणी भंग, जारी हुआ यह आदेश...

आबिद अली कादरी ने बताया है कि जल्द ही राजस्थान में नई कार्यकारिणी का गठन होगा. साथ ही कार्यकारिणी में युवाओं महिलाओं को अधिक मौका दिया जाएगा. 

राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के सभी कार्यकारिणी भंग, जारी हुआ यह आदेश...
राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग में एक बड़ा बदलाव हुआ है.

जयपुर: राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष आबिद कागजी ने प्रदेश की सभी कार्यकारिणी को भंग करने का बड़ा फैसला लिया है. कागजी ने कहा है कि प्रदेश संभाग और जिला स्तर पर नए सिरे से ऊर्जावान कार्यकर्ताओं को कार्यकारिणी में शामिल किया जाएगा. खासतौर पर मुस्लिम समाज के अलावा अल्पसंख्यक वर्ग से भी कार्यकर्ताओं को अहम जिम्मेदारी दी जाएगी. कागजी ने राजस्थान में एनआरसी और सीएए के खिलाफ बड़ा प्रदर्शन करने का भी ऐलान किया है.

राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग में एक बड़ा बदलाव हुआ है. नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आबिद कागजी ने प्रदेश की समस्त कार्यकारिणी को भंग कर दिया है. आबिद अली कादरी ने बताया है कि जल्द ही राजस्थान में नई कार्यकारिणी का गठन होगा. साथ ही कार्यकारिणी में युवाओं महिलाओं को अधिक मौका दिया जाएगा. अल्पसंख्यक विभाग की प्रदेश संभाग और जिला कार्यकारिणी में इस बार केवल मुस्लिम नहीं बल्कि जैन बौद्ध सिख ईसाई सभी धर्मों के कार्यकर्ताओं को अवसर दिया जाएगा. इसके अलावा कागजी ने कहा अल्पसंख्यक विभाग की सक्रियता को बढ़ाने के मकसद से अलग से सोशल मीडिया सेल का गठन किया जाएगा.

आबिद कागजी ने बताया कि देश में एनआरसी और सीए को लेकर जिस तरह का माहौल है. उसे लेकर कांग्रेस का स्टैंड पूरी तरीके से साफ है राजस्थान विधानसभा में विरोध प्रस्ताव पारित किया जा चुका है. इस काले कानून के खिलाफ राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग की तरफ से बड़ा प्रदर्शन किए जाने की तैयारी है. इस संबंध में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशों के बाद ही तारीखों का ऐलान किया जाएगा.

राहुल गांधी के आक्रोश रैली में एनआरसी और सीएए के मुद्दे पर नहीं बोलने के सवाल पर आबिद कागजी ने कहा वो युवा आक्रोश रैली थी उसमें राहुल गांधी का संबोधन युवाओं के मुद्दों को लेकर था. लेकिन कांग्रेस पार्टी का एनआरसी और सीएए को लेकर स्टैंड बिल्कुल क्लियर है.

राजस्थान में कॉन्ग्रेस का अल्पसंख्यक विभाग काफी समय से निष्क्रिय था. विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं मिलने से नाराज प्रदेश अध्यक्ष के इस्तीफे के बाद इसकी गतिविधियां पूरी तरीके से ठप हो चुकी थी. हाल ही में आबिद कागजी को इसकी कमान सौंपी गई है. ऐसे में कांग्रेस पार्टी को उम्मीद है युवा नेतृत्व के साथ विभाग में भी नई उर्जा देखने को मिलेगी.