ADG अनिल पालीवाल के नाम से दो करोड़ रुपये की रिश्वत मांगने का आरोप, जांच शुरू

राजस्थान पुलिस महकमे की भरतपुर पुलिस रेंज में करप्शन का मामला अभी थमा नहीं की एक और गंभीर मामला सामने आ गया है. 

ADG अनिल पालीवाल के नाम से दो करोड़ रुपये की रिश्वत मांगने का आरोप, जांच शुरू
प्रतीकात्मक तस्वीर

जयपुर: राजस्थान पुलिस महकमे की भरतपुर पुलिस रेंज में करप्शन का मामला अभी थमा नहीं की एक और गंभीर मामला सामने आ गया है. मामले की शिकायत एसीबी मुख्यालय पहुंच चुकी है. दरअसल एक परिवादी द्वारा एक रिपोर्ट राजस्थान भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो में दी गई है जिसमें बताया गया कि परिवादी की एक क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी है. यह सोसायटी अपने सदस्यों से डिपोजिट लेने और ऋण देने का कार्य करती है. 

ये भी पढ़ें: अब दुनिया में गूंजा 'राजस्थान मॉडल', सात समंदर पार CM गहलोत के नेतृत्व की चर्चा

सोसाइटी के विरूद्ध एक शिकायत की जांच एसओजी में विष्णु खत्री पुलिस निरीक्षक एवं सत्यपाल मिढ्ढा एडिशनल एसपी द्वारा की जा रही थी. उनके द्वारा जांच समाप्त करने और मामले में एफआईआर दर्ज नहीं करने की एवज में अपने लिए एवं एसओजी के उच्च अधिकारियों के लिए दो करोड रूपये रिश्वत राशि की मांग की जा रही थी. 2 करोड़ की राशि में से पहली किश्त के रूप में 30 लाख रुपयों की मांग की गई.

इस रिपोर्ट पर ACB ब्यूरो द्वारा सत्यापन की कार्यवाही की गई जिसमें सत्यपालमि मिड्ढा द्वारा अनिल पालीवाल अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस, एसओजी के नाम सेरिश्वत की राशि की मांग करना पाया गया है. ऐसे में अब एसीबी ने सत्यपाल मिढ्ढा अति. पुलिस अधीक्षक एसओजी और अन्य के विरूद्ध मुकदमा संख्या 108/ 2020 धारा 7, 7 ए भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम एवं धारा 120 बी भारतीय पुलिस सहिंता के तहत मुकदमा दर्ज किया है, जिसकी जांच शुरू कर दी गई है.

ये भी पढ़ें: कानपुर हमले को लेकर UP और केंद्र सरकार पर CM गहलोत ने बोला हमला, कहा कि...