close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अलवर: लग्न-टीके पर परिवारों में बिगड़ी बात, लड़के ने थाने के बाहर खुद को लगाई आग

पुलिस कर्मियों ने जैसे ही युवक की हरकत देखी थाने दौड़ कर जैसे तैसे युवक को लगी आग पर काबू पाया और फिर उसे एक अन्य वाहन से बहरोड़ के कैलाश अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया. 

अलवर: लग्न-टीके पर परिवारों में बिगड़ी बात, लड़के ने थाने के बाहर खुद को लगाई आग
प्रतीकात्मक तस्वीर

नीमराणा: राजस्थान के नीमराणा थाने के बाहर फतेहपूरा गांव के एक युवक ने अपने ऊपर ससुराल पक्ष की ओर से रिश्ता तौड़ने और शादी से पहले सम्बंध बनाने को लेकर दर्ज किए गए मामले से परेशान होकर देर शाम नीमराणा थाने के बाहर खुद पर केरोसिन डाल कर आग लगा ली. युवक द्वारा अचानक थाने के बाहर आग लगाने की घटना से मौके पर थाना पुलिस कर्मियों और आस पास मौजूद लोगों में हड़कम्प मच गया.

पुलिस कर्मियों ने जैसे ही युवक की हरकत देखी थाने दौड़ कर जैसे तैसे युवक को लगी आग पर काबू पाया और फिर उसे एक अन्य वाहन से बहरोड़ के कैलाश अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया. जंहा युवक का उपचार चल रहा है. बता दें कि ससुराल पक्ष की ओर से युवक का रिश्ता हुआ था और शुक्रवार को जब ससुराल पक्ष के लोग फतेहपुरा निवासी अजय पुत्र महेंद्र सिंह बावरिया का लग्न टिका लेकर आए तो लड़का पक्ष ने रिश्ता तौड़ते हुए लग्न टिका लेने से मना कर दिया.

जिसके बाद मामला शुक्रवार रात को नीमराणा थाने में पहुंच गया. जंहा अलवर निवासी शशि पत्नी अजित सिंह बावरिया ने पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया कि उसने अपनी बेटी का रिश्ता 2018 में फतेहपुरा निवासी अजय पुत्र महेन्द्र सिंह बावरिया के साथ किया था लेकिन जब वह 5 जुलाई को लग्न टीका लेकर गए तो उन्होंने लग्न टिका लेने से मना कर दिया. उसकी बेटी का रिश्ता करने से पहले अजय ने उसके साथ गलत काम किया. 

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 406 और 354 में मामला दर्ज किया और उस वक्त आरोपी पक्ष मामले को लेकर थाने के बाहर जमा थे. आरोपी युवक अजय भी थाने के बाहर मौजूद था, जंहा उसने देर शाम साढ़े सात बजे के करीब साथ लाए केरोसिन को खुद के शरीर पर उड़ेल कर आग लगा ली. पुलिस अब उक्त घटना की भी जांच में जुटी हुई है. बताया जा रहा युवक देखते ही देखते आग की लपटों में बुरी तरह घिर गया और घटना में वह 60 फीसदी झुलस गया है.

प्रत्यक्ष दर्शियों ने बताया कि युवक अचानक से आग लगा कर थाने की सड़क से भागा लेकिन वह गेट के पास गिर गया जंहा फिर पुलिस कर्मियों ने संभाल कर कम्बल रजाई व अन्य कपड़े आदि डाल आग बुझाई और फिर युवक के साथ आए एक उन्ही के गांव के वाहन से बहरोड़ के निजी अस्पताल में ले गए और भर्ती कराया.

घटना की जानकारी पर नीमराणा थानेदार अजय शेखावत और बाद में नीमराणा एएसपी डॉ. तेजपाल सिंह भी अस्पताल पहुंचे ओर घटना की जानकारी ली. युवक को अब ज्यादा गगम्भीर हालत होने पर जयपुर रैफर कर दिया है.

दूसरी तरफ फतेहपुरा निवासी आरोपी पक्ष के युवक अजय के पिता महेंद्र सिंह ने जी मीडिया को बातचीत में बताया कि लड़की पक्ष के लोगों पर उन्हें और लड़के को 11लाख रुपये देने की डिमांड कर नहीं देने पर रिश्ता नहीं करने और 376 का मामला उनके खिलाफ दर्ज कराने की धमकी देकर ब्लैकमेल कर रहे थे और बाद में लड़की पक्ष ने युवक के खिलाफ पुलिस में मामला भी दर्ज करा दिया जिससे लड़का दुखी था और उसने इसी वजह से केरोसिन डाल कर आग लगा ली.