close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अलवर: रैणी कस्बे में नसियाजी की भूमि से अतिक्रमण को लेकर अनशन पर बठे जैन मुनि

रैणी कस्बे के जैन सामाज के दिनेश जैन, नेमीचन्द जैन, विनोद जैन, सुमत जैन आदि ने बताया कि यह नसिया जैन समाज की है. 

अलवर: रैणी कस्बे में नसियाजी की भूमि से अतिक्रमण को लेकर अनशन पर बठे जैन मुनि
जैन समाज के लोग भी नसीया पर मौजूद रहे.

अलवर: रैणी कस्बे के परबैणी तिराहे पर स्थित नसीयाजी भूमि से अतिक्रमण को हटाने की मांग को लेकर सोमवार को जैन मुनि संयम सागर महाराज व सुझाव सागर महाराज अंशन पर बैठ गए. मुनियों के साथ ही रैणी कस्बे के जैन सामाज के लोग अपने प्रतिष्ठनों को बंद कर अनशन स्थल पर बैठे हुए हैं.

रैणी कस्बे के जैन सामाज के दिनेश जैन, नेमीचन्द जैन, विनोद जैन, सुमत जैन आदि ने बताया कि यह जमीन नसिया जैन समाज की है. नसीयाजी की भूमि पर कुछ लोगों ने गोबर का ढेर, पत्थर, कंटीली झाडिया आदि डाल कर अतिक्रमण कर रखा है. सोमवार शाम को संयम सागर महाराज, सुझाव सागर महाराज ने नसियाजी पर मंगल प्रवेश किया जिस पर कुछ लोगों ने उन्हें नासीयाजी में प्रवेश करने से मना कर दिया. 

जिस पर मंगलवार को नसियाजी पर जैन समाज के लोगों के एक साथ नमोकार मंत्र का जाप किया. दोपहर को संयम सागर महाराज व सुझाव सागर महाराज नसीयाजी भूमि से अतिक्रमण हटाने की मांग को लेकर अनशन पर बैठ गये. वहीं जैन समाज के लोग भी नसीया पर मौजूद रहे. सूचना पर रैणी थाना प्रभारी किशनलाल यादव व तहसीलदार भोलाराम वर्मा मौके पर पंहुचे व जैन मुनियो से समझाईश का प्रयास किया लेकिन वह अतिक्रमण हटाने की मांग पर अड़े रहे. 

यहां तक कि बुधवार को भी अनशन जारी रहा. जैन समाज के प्रतिष्ठान बंद है. इस संबंध कार्यवाहक तहसीलदार भोलाराम वर्मा ने कहा कि जिस जगह वो बैठे हुए वो भूमि ग्राम पंचायत के नाम दर्ज है. एसडीएम के आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी. रैणी थाना प्रभारी किशनलाल यादव ने कहा कि भूमि का मामला कोर्ट मे चल रहा है उस पर कोर्ट का स्टे है.