अलवर: अफीम फसल की अवैध खेती पर पुलिस ने की कार्यवाही, फिर...

मुखबिर की सूचना पर डीएसपी शैलेन्द्र इंडोलिया ने थानागाजी के इंडोक गांव में खेम चंद मीणा के खेत पर दबिश दी. जिसमे खेत मे बने मकान के पीछे नदी किनारे पर मौजूद हालात में तेरह क्यारियों में अफीम की फसल खड़ी मिली.

अलवर: अफीम फसल की अवैध खेती पर पुलिस ने की कार्यवाही, फिर...

अलवर: थानागाजी समीपवर्ती सरिस्का में मीणा ढाबा (इंडोक गांव में) के पीछे गेहूं की फसल की आड़ में एक बार फिर अवैध रूप से पैदा हो रही अफीम की खेती को थानागाजी पुलिस ने जब्त किया. इससे पहले कुछ दिन पूर्व भी अकबरपुर और उमरैण में इसी तरह अवैध अफीम और डोडा की खेती को पुलिस ने पकड़ा था.

उसके बाद आज एकबार फिर थानागाजी के सहायक पुलिस अधीक्षक श्लेन्द्र इंडोलिया ने मुखबिर की सूचना पर बुधवार को दोपहर में कार्यवाही करते हुए भारी पुलिस जाप्ते के साथ खेतों में दबिश दी. वहां, अफीफ की खेती को कब्जे में लेकर कार्यवाही शुरू की.

मुखबिर की सूचना पर डीएसपी शैलेन्द्र इंडोलिया ने थानागाजी के इंडोक गांव में खेम चंद मीणा के खेत पर दबिश दी. जिसमे खेत मे बने मकान के पीछे नदी किनारे पर मौजूद हालात में तेरह क्यारियों में अफीम की फसल खड़ी मिली व सात क्यारियों की फसल को काट कर भैंस को चारे के रम खिला दिया गया. पास के खेत मे ही अफीम की खेती की सूचना पर पुलिस के द्वारा सर्च अभियान चला कर खेतो की तलाशी ली गयी. जिसमे गेंहू के खेतों में अफीम की फसल मिली.

थानागाजी, प्रतापगढ़, नारायणपुर पुलिस के जाप्ते के साथ पुलिस ने पूरी फसल को उखाड़ कर जप्त किया. कार्यवाही के दौरान कोई भी खेत मालिक मौके पर नहीं मिले. गौरतलब है कि विगत सप्ताह ही माधोगढ़ के शुक्ला का बॉस में हो रही अवैध रूप से अफीम की खेती पर कार्यवाही की गई थी. जिसमे एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया गया था.