डीडवाना: छोटी खाटू में मॉब लिंचिंग की वारदात, पुलिस बल मौके पर तैनात

जानकारी के अनुसार, घटना छोटी खाटू में हुई है. यहां पर किराने की दुकान लगाने वाले एक दुकानदार को लोगों ने पीट-पीट कर मार डाला. 

डीडवाना: छोटी खाटू में मॉब लिंचिंग की वारदात, पुलिस बल मौके पर तैनात
पुलिस का कहना है कि छत से गिरने की वजह से मृतक की जान गई.

हनुमान तंवर, डीडवाना: छोटी खाटू कस्बे में किराना दुकान संचालक की भीड़ ने पीट-पीट कर हत्या कर दी. मृतक पर मासूम से दुष्कर्म का आरोप लगा कर कुछ लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया. मृतक का शव एक मकान से बरामद किया गया, जहां तारों से लिपटी हुई लाश को बरामद किया गया. वहीं मामले में पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं. पुलिस का कहना है कि छत से गिरने की वजह से मृतक की जान गई. वहीं परिजन समुदाय विशेष द्वारा हत्या का आरोप लगा रहे हैं.

जाहिर है मॉब लिंचिग को लेकर प्रदेश में लगातार सख्त कानून बनाकर लगाम लगाने की कोशिश की गई लेकिन शायद लोगों में कानून का डर खत्म हो गया है. इसीलिए लोगों कानून को अपने हाथों में लेने से नहीं चूकते. छोटी खाटू कस्बे में भी इसी तरह से इस पूरी घटना को अंजाम दिया गया, जिसमें एक शख्स को आरोपी बनाकर कुछ लोगों ने इकट्ठा हो उसकी जान ले ली.

जानकारी के मुताबिक, परचून की दुकान चलाने वाला रामावतार लोहिया दुकान पर बैठा था. इसी दौरान दुकान पर सामान खरीदने की लिए दो बच्चियां आईं और उसमें से एक बच्ची छोटी बच्ची को दुकान पर छोड़कर चली गई. बच्ची ज्यादा छोटी थी. जब रोने लगी तो रामअवतार ने बच्ची को अपनी दुकान में बैठा लिया. कुछ देर के बाद बच्ची के परिजन आए और उसे लेकर चले गए. थोड़ी देर बच्ची के परिजनों ने रामअवतार को फोन कर बच्ची से छेड़छाड़ की बात कही. रामअवतार ने सारी बात बताई और इंकार किया लेकिन बच्ची के परिजन नहीं माने.

मृतक के परिजनों के मुताबिक, बड़ी संख्या में कुछ लोग शाम को उनके घर पहुंचे और मृतक रामअवतार लोहिया को उठा ले गए, जिसके कुछ देर बाद रामअवतार का शव एक सुनसान मकान से बरामद किया गया.वहीं मामले की जानकारी पुलिस को दी गई, जिसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और घटनास्थल का जायजा लिया. मृतक के परिजनों ने पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाए हैं क्योंकि जहां परिजन इसे हत्या का मामला बता रहे हैं, वहीं पुलिस इसे छत से गिरने से हत्या का मामला मान रही है. वहीं पूरे मामले के सामने आने के बाद गांव में लोगों मे रोष व्याप्त है.