close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: तीन दिन की बारिश में बदली बांधों की तस्वीर, 11 डैम में बढ़ी पानी की आवक

चार जिलों की लाइफलाइन कहा जाने वाले बीसलपुर बांध में केवल 2 सेन्टीमीटर पानी की आवक बढोतरी हुई है.

राजस्थान: तीन दिन की बारिश में बदली बांधों की तस्वीर, 11 डैम में बढ़ी पानी की आवक
जाखड़ बांध में 19 फीसदी दर्ज की गई है.

जयुपर: पश्चिमी राजस्थान में तीन दिन की बारिश के बाद बांधों में पानी की आवक बढने लगी है. 22 में से 11 बडे बांधों में पानी की आवक में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. जल संसाधन विभाग के मुताबिक बढ़े बांधों में पानी की आवक में लगातार आवक हो रही है. चलिए देखते है किस बांध से प्रदेश के लिए राहत की खबर आई है.

तीन दिन की मसूलाधार बारिश के बाद में राजस्थान के सूखें बांधों में पानी की आवक लगातार बढ़ती जा रही है. महज तीन दिन की बारिश में प्रदेश के 11 बडे बांधों में पानी का स्तर बढ़ने लगा है. सबसे ज्यादा बढोतरी प्रतापगढ़ के जाखड़ बांध में 19 फीसदी दर्ज की गई है. इसके अलावा बांसवाड़ा के हारों बांध में 18 फीसदी पानी की बढ़ोतरी हुई है. इसके साथ साथ चितौडगढ़, टोंक, कोटा, प्रतापगढ़ के बांधों में पानी की आवक हुई है. चलिए आपको बताते है कि किन बांधों से अब प्रदेश की उम्मीदें बढ़ने लगी है.

कोटा बैराज में तो ये हालत हो चले है कि इस बांध के पांच गेट खोलने पड़े. इसके अलावा चितौडगढ़ के राणा प्रताप सागर में 61 से बढ़कर 64 फीसदी,जयपुर के छापरवाड़ा बांध में शून्य से बढ़कर 2 फीसदी, डूंगरपुर के सोम कमला अम्बा में 48 से 50 फीसदी पानी की आवक दर्ज की गई है.

वहीं चार जिलों की लाइफलाइन कहा जाने वाले बीसलपुर बांध में केवल 2 सेन्टीमीटर पानी की आवक बढोतरी हुई है. इतनी बारिश के बाद भी भू-जल का रिचार्ज नहीं हो पा रहा है. क्योंकि पानी केवल बह रहा है, जमीन ने नहीं जा रहा है. ऐसे में भूजल विभाग ने भविष्य में पानी को लेकर चिंता जाहिर की है.