close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अशोक गहलोत ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से जल परियोजनाओं पर मांगी मंजूरी

गहलोत ने राजीव गांधी लिफ्ट नहर परियोजना के चरण 3 के लिए बाह्य वित्तीय सहायता के प्रस्ताव के लिए मंजूरी मांगी, जिसकी लागत 1,450 करोड़ रुपये है.

अशोक गहलोत ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से जल परियोजनाओं पर मांगी मंजूरी
राजस्थान की कई पेयजल परियोजनाएं जापान की सहायता एजेंसी जेआईसीए की मदद से चल रही हैं.

नई दिल्ली: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की. उन्होंने केंद्र सरकार से कई पेयजल परियोजनाओं के प्रस्तावों और केंद्र द्वारा प्रायोजित योजनाओं के लिए समय पर धनराशि जारी करने का अनुमोदन करने का अनुरोध किया.

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, गहलोत ने सीतारमण से मुलाकात की और राजस्थान से संबंधित विभिन्न वित्तीय मुद्दों पर चर्चा की.

सीतारमण के साथ अपनी बैठक के दौरान गहलोत ने कहा कि पिछली परंपरा के अनुसार केंद्रीय करों में राज्यों की हिस्सेदारी संबंधित राज्यों को महीने की पहली तारीख को जारी की जानी चाहिए.

गहलोत ने कहा कि जैसा कि पिछले कुछ वर्षों से इस प्रथा को बदल दिया गया है, जिससे राज्यों को वित्तीय मुद्दों का सामना करना पड़ रहा है. 

राज्यों को पहली तारीख को वेतन और पेंशन का भुगतान करना पड़ता है, जिसके कारण बहुत मुश्किल पैदा हो जाती है. गहलोत ने वित्तमंत्री से यह भी अनुरोध किया कि 5,473 करोड़ रुपये की लागत वाली सात पेयजल परियोजनाओं के प्रस्तावों को जल्द से जल्द मंजूरी दी जाए.

उन्होंने राजीव गांधी लिफ्ट नहर परियोजना के चरण 3 के लिए बाह्य वित्तीय सहायता के प्रस्ताव के लिए मंजूरी मांगी, जिसकी लागत 1,450 करोड़ रुपये है. यह परियोजना वर्ष 2051 तक 2014 गांवों और जोधपुर, बाड़मेर और पाली जिलों के पांच शहरों को पीने का पानी प्रदान करेगी.

गहलोत ने सीतारमण को इस बात से भी अवगत कराया कि राजस्थान की कई पेयजल परियोजनाएं जापान की सहायता एजेंसी जेआईसीए की मदद से चल रही हैं.