अशोक गहलोत का केंद्र सरकार पर तंज, कहा- 'बीजेपी सिर्फ अमीरों का कर्जा माफ करती है'

भाजपा पर तंज कसते हुए सीएम गहलोत ने कहा की भाजपा अमीरों का कर्जा माफ करती है जबकि कांग्रेस गरीब किसानो का कर्जा माफ करने में विश्वास रखती है. 

अशोक गहलोत का केंद्र सरकार पर तंज, कहा- 'बीजेपी सिर्फ अमीरों का कर्जा माफ करती है'
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान की आत्महत्या को लेकर मामले में जांच करवाई जा रही है

डूंगरपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज एक दिवसीय दौरे पर डूंगरपुर पहुंचे. इस दौरान सीएम गहलोत ने मुख्यालय पर आयोजित आदिवासी किसान सम्मेलन को संबोधित किया. अशोक गहलोत ने कांग्रेस सरकार और यूपीए सरकार की जन्कल्यानकारी योजनाओ को गिनाते हुए कांग्रेस को गरीब किसानो की हितैषी पार्टी बताया. सीएम गहलोत स्टेट प्लेन से सुबह साढ़े 10 बजे दोवडा हवाई पट्टी पहुचे जहां कांग्रेस नेताओ सहित उदयपुर रेंज के आईजी और संभागीय आयुक्त ने सीएम की अगुवानी की. 

यहां से सीएम गहलोत हेलीकाप्टर के जरिए सीधे सम्मेलन स्थल पहुंचे जहां पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा, कांग्रेस जिलाध्यक्ष दिनेश खोदानिया और विधायक गणेश घोघरा ने सीएम का स्वागत किया. आदिवासी किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि आदिवासी वर्ग हमेशा कांग्रेस पार्टी की प्राथमिकताओं में रहा है और उनके उत्थान के लिए कांग्रेस की सरकारों कई योजनाए बनाई है. भाजपा पर तंज कसते हुए सीएम गहलोत ने कहा की भाजपा अमीरों का कर्जा माफ करती है जबकि कांग्रेस गरीब किसानो का कर्जा माफ करने में विश्वास रखती है. 

गहलोत ने कहा कि सूचना का अधिकार, शिक्षा का अधिकार, रोजगार, आवास का अधिकार जैसी दर्जनों योजनाए चलाकर कांग्रेस ने गरीब का विकास करने का काम किया है. अपने उद्बोधन में सीएम ने कहा कि चुनावों में किए हर वादे को सरकार पूरा करेगी वही बंद पड़ी महत्वपूर्ण परियोजनाओ को फिर से शुरू किया जाएगा. सीएम ने कहा कि राजस्थान सरकार का गुजरात की एक संस्था से समझौता हुआ है जिसके तहत दिल की गंभीर बीमारी से पीड़ित बच्चो का निशुक इलाज होगा. वही गुजरात आने-जाने का खर्च सरकार मुख्यमंत्री सहायता कोष से देगी. 

इससे पहले सीएम गहलोत हेलीपैड पर मीडिया से भी रूबरू हुए और कहा की नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बने वो लोकतंत्र की देन है वही लोकतंत्र कांग्रेस पार्टी की देन है. गहलोत ने यह भी कहा कि वर्तमान में लोकतंत्र को सुरक्षित रखने की जरुरत है. गहलोत ने मेवाड़ अंचल में कांग्रेस के खोये हुए जनाधार को वापस लाने का दावा भी किया. इधर मीडिया से बातचीत में गंगानगर में किसान की आत्महत्या के सवाल पर कहा कि अभी तो मामला उनके सामने आया है और इस पूरी घटना में सही रिपोर्ट भी नहीं मिली है. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान की आत्महत्या को लेकर तथ्यात्मक रिपोर्ट मंगवाई गई है. रिपोर्ट के आने के बाद ही इसमें कुछ कहा जा सकता है मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान की आत्महत्या को लेकर मामले में जांच करवाई जा रही है और इसके बाद मामले में कार्रवाई भी की जाएगी. आपको बता दें कि दो दिन पहले ही गंगानगर के रायसिंह नगर में किसान सोहनलाल मेघवाल ने कर्जमाफी नहीं होने के चलते जहर खाकर आत्महत्या कर ली थी. किसान सम्मेलन में चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, शिक्षा मंत्री गोविन्द डोटासरा, टीएडी मंत्री अर्जुन मीणा, सहकारिता मंत्री उदयलाल अंजना और जिले के प्रभारी मंत्री राजेंद्र यादव भी मौजूद थे.