कर्मचारियों की मांगों पर बोले सीएम अशोक गहलोत- हमारी भी कुछ मजबूरियां हैं

सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि केंद्र ने जीएसटी (GST) लागू किया लेकिन इसमें कई बार उनको संशोधन करने पड़े. जीएसटी से सरकार भी राजस्व नहीं जुटा पाई.

कर्मचारियों की मांगों पर बोले सीएम अशोक गहलोत- हमारी भी कुछ मजबूरियां हैं
सीएम अशोक गहलोत ने कहा- कोर्ट में भर्तियां अटके नहीं, इसके लिए काम कर रहे हैं.

जयपुर: सचिवालय कर्मचारी संघ कार्यकारिणी (Secretariat Employees Union Executive) का शपथ ग्रहण समारोह सचिवालय में आयोजित हुआ, जिसमें सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने 57 सदस्यों को शपथ दिलाई. 
इस दौरान सीएम अशोक गहलोत ने कर्मचारियों की मांगों पर कहा कि हमारी कुछ मजबूरियां है. यह हमारी ही नहीं, पूरे प्रदेश की जिम्मेदारी है कि प्रदेश में किसी को कोई दिक्कत नहीं हो, जब पूरा देश आर्थिक परेशानी से गुजर रहा है. 

सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि केंद्र ने जीएसटी (GST) लागू किया लेकिन इसमें कई बार उनको संशोधन करने पड़े. जीएसटी से सरकार भी राजस्व नहीं जुटा पाई. जो केंद्र सरकार से राशि मिलती थी, उसमें भी 11 हजार की कटौती कर दी. हालांकि उन्होंने कहा कि मैं कोई केंद्र पर आरोप नहीं लगा रहा हूं, मैं केंद्र के साथ हमेशा ऑप्शन खुला रखता हूं, लेकिन जो आज हालात देश में बने हैं, उस पर अपनी बात रख रहा हूं. 

आगे गहलोत ने कहा कि मैं आप सब के सहयोग से इस परेशानी को मिलकर दूर करूंगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अभी तक आपको डीए (Dearness Allowance) नहीं दिया है और आपने भी कोई मांग नहीं की. मैं चाहता हूं कि ऐसा ही सहयोग हमेशा बना रहे. उन्होंने कहा कि हमने पिछली बार आपको आपकी अपेक्षाओं से ज्यादा दिया. मैं हमेशा कर्मचारियों के साथ हूं. आप भी सचिवालय में बैठते हैं. जनता की परेशानी को ध्यान में रखते हुए काम कीजिए. 

बेराजगार नेताओं को दी नसीहत
सीएम अशोक गहलोत ने कहा कोर्ट में भर्तियां अटके नहीं, इसके लिए काम कर रहे हैं. वहीं बेराजगार नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि या तो उन्हें नौकरी करनी चाहिए या राजनीति में आना चाहिए. उन्होंने कहा कि कई बेरोजगार नौकरी लगने के बाद नौकरी छोड़कर बेरोजगारों को साथ लेकर धरना-प्रदर्शन करते हैं. वो बेरोजगारों के नेता बन जाते हैं. यह परंपरा ठीक नहीं है. इन्हें किसी प्रकार का सपोर्ट नहीं मिलना चाहिए. 

मुख्य सचिव डीबी गुप्ता ने कहा कि सचिवालय राजकार्य दक्ष हों, इसके लिए सिविल सेवा की तरह सचिवालय सेवा के कर्मचारियों को भी पूरी सर्विस में तीन बार ट्रेनिंग दी जाएगी. अभी सचिवालय में 1375 कर्मचारी हैं, जिन्हें रोटेशन से ट्रेनिंग दी जाएगी. सचिवालय कर्मचारी संघ अध्यक्ष देवेंद्र सिंह शेखावत ने इस दौरान प्रमोशन के लिए अनुभव में छूट देने की मांग की. इस दौरान सचिवालय के पूर्व अध्यक्ष सहित कर्मचारी मौजूद रहे.