गहलोत सरकार ने की वर्षगांठ मनाने की तैयारियां, सभी विभागों से मांगी गईं महत्वपूर्ण सूचनाएं

गहलोत सरकार ने 24 दिसंबर को शपथ ली थी. सरकार के कार्यकाल को एक साल होने जा रहा है और ऐसे में गहलोत सरकार ने पहली वर्षगांठ मनाने की तैयारी शुरू कर दी है. 

गहलोत सरकार ने की वर्षगांठ मनाने की तैयारियां, सभी विभागों से मांगी गईं महत्वपूर्ण सूचनाएं
बजट की उपलब्धता और स्वीकृति जारी होने की स्थिति, भूखंड आवंटन पर टिप्पणी मांगी है.

विष्णु शर्मा, जयपुर: राजस्थान की अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने अपनी पहली वर्षगांठ मनाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं. सरकार ने सभी विभागों से 10 दिसंबर तक पूरी होने वाले कार्यों और परियोजनाओं सहित अन्य जानकारियां मांगी हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से सभी विभागों के प्रमुख को मेल भेजकर एक निर्धारित प्रपत्र में जानकारी भेजने के लिए कहा है.

राजस्थान विधानसभा चुनाव के बाद 11 दिसंबर को हुए परिणामों में कांग्रेस को बहुमत मिला था. इसके बाद गहलोत सरकार ने 24 दिसंबर को शपथ ली थी. सरकार के कार्यकाल को एक साल होने जा रहा है और ऐसे में गहलोत सरकार ने पहली वर्षगांठ मनाने की तैयारी शुरू कर दी है. सरकार लोगों के बीच संदेश देना चाहती है कि सरकार ने एक साल में क्या-क्या कार्य किए और अब क्या नए काम किए जाएंगे? इसे लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय ने सरकारी विभागों से कई प्रकार की सूचनाएं मांगी है. खास बात यह है कि अधिकारियों से ये सूचनाएं दस दिसंबर के आधार पर मांगी हैं और इसके लिए सीएमओ से मेल भेजा गया है.

 सीएमओ ने मांगी ये प्रमुख सूचनाएं
- सीएमओ के सांख्यिकी निदेशक नरेंद्र कुमार मंघानी ने किया मेल
- 10 दिसंबर तक पूरे होने वाले कार्यों-परियोजनाओं की सूची, जिनका लोकार्पण किया जा सके
- नए कार्यों-परियोजनाएं जिनका शिलान्यास किया जा सकता है
- मौजूदा बजट के तहत की जाने वाली घोषणाओं की सूची 
- ये सभी जानकारी 29 जनवरी तक हर हाल में भेजने के निर्देश
- सभी एसीएस, प्रमुख सचिवों, सचिव और विभागाध्यक्षों को किया मेल
- सूचनाएं निर्धारित प्रपत्र में भरकर मांगी गई है
- परियोजना-कार्य का नाम, संक्षिप्त विवरण, अनुमानित लागत, स्थान
- शिलान्यास की संभावित तारीख
- परियोजनाओं से लाभान्वित होने वाले क्षेत्र, एमएल-एपपी क्षेत्र, लाभान्वित आबादी का संक्षिप्त विवरण
- परियोजना से प्राप्त होने वाले लाभ का संक्षिप्त विवरण
- कार्य पूरा होने की संभावित तारीख, वर्तमान स्थिति
- इनके साथ ही बजट की उपलब्धता और स्वीकृति जारी होने की स्थिति, भूखंड आवंटन पर टिप्पणी मांगी है.