close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्‍थान : अशोक गहलोत से मिलने पहुंचने लगे विधायक, कल होना है शपथ ग्रहण

शुक्रवार को कांग्रेस ने अशोक गहलोत का नाम मुख्‍यमंत्री के रूप में घोषित किया है. पायलट को डिप्‍टी सीएम बनाया गया है.

राजस्‍थान : अशोक गहलोत से मिलने पहुंचने लगे विधायक, कल होना है शपथ ग्रहण

नई दिल्‍ली : राजस्‍थान चुनाव नतीजे सामने आने के तीन दिन बाद कांग्रेस आलाकमान ने शुक्रवार को वरिष्‍ठ नेता अशोक गहलोत का नाम प्रदेश के नए मुख्‍यमंत्री के रूप में घोषित किया है. साथ ही युवा नेता सचिन पायलट को उप मुख्‍यमंत्री का पद दिया है. राजस्‍थान में नई सरकार का शपथ ग्रहण रविवार (17 दिसंबर) को होना है. इससे पहले ही राजस्‍थान की फिजा भी बदलने लगी है. यहां नई सरकार को देखते हुए बड़े स्‍तर पर ब्‍यूरोक्रेसी में बदलाव की तैयारियों शुरू हो गई हैं. इसी क्रम में शनिवार को कई विधायक और कार्यकर्ता भी भावी मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात करने उनके आवास पर पहुंचे.

शनिवार को गहलोत के जयपुर स्थित आवास पर उनसे मुलाकात करने पहुंचने वाले नेताओं और विधायकों में महादेव सिंह खंडेला, हरीश चौधरी, अमित चौहान, संयम लोढ़ा, गोविंद डोटासरा, मंगलाराम गोदारा, मुरारी लाल मीणा प्रमुख रहे. कहा जा रहा है कि अशोक गहलोत इन सभी नेताओं से मुलाकात करने के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं से भी मिलेंगे.


फाइल फोटो

बता दें कि शुक्रवार को कांग्रेस आलाकमान ने राजस्‍थान के मुख्‍यमंत्री की जिम्‍मेदारी अशोक गहलोत को दी है, जबकि सचिन पायलट को राज्‍य का उप मुख्‍यमंत्री बनाया गया है. सचिन साथ ही प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्‍यक्ष भी बने रहेंगे. शपथ ग्रहण समारोह में राहुल गांधी समेत कांग्रेस के बड़े नेता शामिल होंगे.

कांग्रेस की ओर से की गई प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बताया गया कि सभी नेताओं और विधायकों से चर्चा के बाद आम सहमति से फैसला लिया गया कि राज्‍य के मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत होंगे. उनके साथ सचिन पायलट को डिप्‍टी सीएम बनाया जाएगा.  इस दौरान गहलोत ने कहा कि हमारी सरकार राजस्‍थान को गुड गवर्नेंस देगी. किसानों की कर्जमाफी होगी, युवाओं को रोजगार मिलेगा और जनता को सुशासन मिलेगा.

दो दिन तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के आवास पर लगातार चली वरिष्‍ठ कांग्रेस नेताओं की बैठकों के बाद शुक्रवार को पार्टी अध्‍यक्ष की तरफ से यह निर्णय ले लिया गया.