close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अशोक गहलोत ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- 'मोदी सरकार को जुमले ले डूबेंगे'

गहलोत ने कहा, ‘‘ये जुमले उनको ले डूबेंगे. इस मोदी सरकार को ले डूबने का एक बड़ा कारण तो यह होगा कि इसने संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया. दूसरा बड़ा कारण जुमलेबाजी रहेगी.

अशोक गहलोत ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- 'मोदी सरकार को जुमले ले डूबेंगे'
फाइल फोटो

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को ‘‘जुमले वाली सरकार’’ बताते हुए बुधवार को कहा कि लोकसभा चुनाव में उसकी विदाई तय है. गहलोत ने यहां अपने निवास पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि लोग धीरे-धीरे समझ गए हैं और जुमले ही मोदी सरकार को ले डूबेंगे.

गहलोत ने कहा, ‘‘ये जुमले उनको ले डूबेंगे. इस मोदी सरकार को ले डूबने का एक बड़ा कारण तो यह होगा कि इसने संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर किया. दूसरा बड़ा कारण जुमलेबाजी रहेगी. सब लोग धीरे-धीरे समझ रहे हैं कि यह जुमले वाली सरकार है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी ने कोई सुशासन नहीं दिया केवल जुमलेबाजी की और अब इनकी विदाई तय है. यात्राएं हो रही हैं. आप देखना कि इन चुनावों में इनका सफाया हो जाएगा.’’ 

जोधपुर सीट से भाजपा के प्रत्याशी व केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के ‘‘सरकारी अधिकारियों को उल्टा लटकाने’’ संबंधी कथित बयान की आलोचना करते हुए गहलोत ने कहा कि उन्हें शेखावत से ऐसी उम्मीद नहीं थी. गहलोत ने कहा, 'अभी तो जनता उनकी जो केंद्र में सरकार है उसको उलटा लटकाने जा रही है.' मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान में लोकसभा चुनाव में दुबारा उतरे मोदी सरकार के चारों मंत्री संकट में हैं और उन्हें हार सामने नजर आ रही है.

वहीं उन्होंने प्रदेश में बढ़ रही पानी की समस्या के बारे में बात करते हुए कहा, गर्मियां शुरू होते ही राज्य में पानी का संकट गहरा गया है लेकिन सरकार इसके समाधान में कोई कसर नहीं रखेगी. इसके साथ ही उन्होंने कहा पेयजल के मामले में कोताही बरतने वाले अधिकारी या कर्मचारी को सरकार बख्शेगी नहीं.

गहलोत ने कहा, ‘‘पानी को लेकर संकट बहुत बड़ा है. हमने पहले तैयारी की थी. सरकार बनते ही हमने इसको प्राथमिकता दी. टैंकर आदि के टेंडर और वर्क आर्डर का काम आदि सब किया.’’ उन्होंने कहा, ‘वास्तव में इस बार पानी बहुत बड़ा संकट है. संकट रहेगा. कुछ तो जनता को सहन करना पड़ेगा लेकिन सरकार की तरफ से कोई कमी नहीं रहेगी. जो इसमें कोताही बरतेगा चाहे वह कोई भी कर्मचारी या अधिकारी हो उसको बख्शा नहीं जाएगा.’ उल्लेखनीय है कि राजधानी जयपुर के कई इलाकों सहित राज्य के अनेक इलाकों में पेयजल संकट की खबरें हैं