नीलामी के लिए तरस रहे Rajasthan के 2147 ठेके, आबकारी विभाग फिर से ढूंढ रहा हकदार

आबकारी विभाग ने शराब दुकानों की बिक्री के लिए दो बार ऑनलाइन नीलामी (Wine Shop Allocation) की, लेकिन फिर भी प्रदेश की 7665 दुकानों में से 2147 रह गई. 

नीलामी के लिए तरस रहे Rajasthan के 2147 ठेके, आबकारी विभाग फिर से ढूंढ रहा हकदार
फाइल फोटो

Jaipur : आबकारी विभाग ने शराब दुकानों की बिक्री के लिए दो बार ऑनलाइन नीलामी (Wine Shop Allocation) की, लेकिन फिर भी प्रदेश की 7665 दुकानों में से 2147 रह गई. इसका कारण कुछ दुकानों की बोली नहीं लगना है तो कुछ नीलाम हो चुकी दुकानों ( Rajasthan Wine Shops) की राशि जमा नहीं होना है. विभाग इन बची हुई दुकानों की आज नीलामी कर रहा है.

यह भी पढ़ें- Rajasthan के शराब दुकानदारों को बड़ा झटका, लॉटरी नहीं, अब ऐसे होगा दुकानों का आवंटन

इस पूरी प्रक्रिया (Online Auction Of Wine Shops) में सबसे रोचक बात यह है कि इस बार ऑनलाइन नीलामी प्रक्रिया के चलते अधिकारी जहां दो महीने से जूझ रहे हैं. वहीं, पिछले साल तक लॉटरी प्रक्रिया के चलते एक ही दिन में दुकानों (Wine Shops) का आवंटन हो जाता था. बता दें कि 1 अप्रैल से नई शराब दुकानों का आवंटन कर दिया जाता है, लेकिन इस बार अब तक नीलाम हुई 2147 दुकानों की नीलामी कब तक चलेगी. इस बारे में अफसर कुछ कह नहीं रहे हैं. 

विभाग के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में सबसे ज्यादा 200 दुकानें श्रीगंगानगर में रह गईं हैं. इन पर या तो बोली नहीं लगी या फिर बोली लगने के बाद ठेकेदार ने राशि जमा नहीं कराई. इसी तरह करौली में सबसे कम 11 दुकानें बची हैं, जिन पर नीलामी (Rajasthan New Excise Policy) होगी. वहीं, संभागीय मुख्यालयों की बात करें तो जयपुर में ग्रामीण और सिटी की 121, जोधपुर में 90, भरतपुर में 19, अजमेर में 80, कोटा में 34, बीकानेर में 68 और उदयपुर में 119 दुकानें अब तक नीलामी नहीं हुई.

यह भी पढ़ें- Rajasthan: नई आबकारी नीति जारी, अब ऑक्शन से होगा शराब की दुकानों का आवंटन