close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बांसवाड़ा: इस स्कूल में गर्मी के साथ होती है बरसात की भी छुट्टी, जानिए पूरा मामला

 बरसात में इन स्कूलों के सभी कमरों में पानी टपकता है, जिससे यहां पर हादसे का डर बना हुआ रहता है.

बांसवाड़ा: इस स्कूल में गर्मी के साथ होती है बरसात की भी छुट्टी, जानिए पूरा मामला
इस स्कूल में 2 कमरे है वो भी पूरी तरह से जर्जर हो चुके है.

अजय ओझा/बांसवाड़ा: केन्द्र व राज्य सरकार प्रदेश के इस जनजाति अंचल में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं चला रहा है. और करोड़ों रूपए खर्च कर रहा है,पर जब बच्चों के पढ़ने के लिए भवन ही जर्जर हो तो वहां पर कैसे पढ़ाई हो. बांसवाड़ा जिलें में बरसात के 3 महीनों में ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों की पढ़ाई सरकारी स्कूल में पूरी तरह से ठप ही रहती है. जिलें के इन ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकतर स्कूल भवन पूरी तरह से खस्ताहाल और जर्जर अवस्था में है. इन भवनों में दरारें तक आ चुकी है और यह स्कूल सालों पुराने हैं जिससे कारण अब इनके भवन पूरी तरह से खस्ताहाल हो चुके है. 

इतना ही नहीं बरसात में इन स्कूलों के सभी कमरों में पानी टपकता है, जिससे यहां पर हादसे का डर बना हुआ रहता है. वहीं इस बरसात के 3 महीने में यहां पर शिक्षक व बच्चें अपनी जान जोखिम में डालकर पढ़ाई करने को मजबूर हो गया हैं. शिक्षकों की मानें तो इन भवनों की मरम्मत के लिए शिक्षा विभाग, प्रशासन व नेताओं को कई बार अवगत करवाया पर अब तक किसी ने इस और ध्यान नहीं दिया है.

स्कूल करना पड़ता है बंद
बांसवाड़ा जिलें के बडलिया पंचायत के टाटीया गांव की प्राथमिक स्कूल का भवन पूरी तरह से खस्ताहाल है. इस स्कूल में 2 कमरे है वो भी पूरी तरह से जर्जर हो चुके है और कभी भी यह भवन गिर सकते है. इस स्कूल में 52 बच्चों का नामांकन है और बरसात में यहा पर बच्चें जान जोखिम में डालकर पढ़ाई करने को मजबूर हो गए है.

स्कूल कक्ष में टपकता है पानी
बांसवाड़ा जिलें के गढी उपखंड क्षेत्र के सुंदनी गांव की राजकिय उच्च माध्यमिक स्कूल का भवन सालों पहले बना हुआ है. इस भवन में कुल 14 कमरे है और यहां पर बरसात के दिनों में इन सभी कमरो में पानी टपकता है. इतना ही नहीं कमरों मे दरारे हर दम बरसात में हादसे को न्योता देती नजर आ रही है. इस स्कूल में 700 बच्चों का रोल है और इस बरसात के दिनों में यहा पर पढाई पूरी तरह से ठप हो जाती है.

कब सही होगा स्कूल भवन
बांसवाड़ा जिलें के आसन गांव की राजकिय उच्च माध्यमिक स्कूल का भवन कभी भी गिर सकता है. यह भवन सालों पहले बना था और इन भवन में कही कमरों में दरारे आ चुकी है. इस स्कूल भवन में 14 कमरे है जिसमें 10 कमरों में बरसात के समय बेठने में खासी दिक्कत आती है. वहीं स्कूल की सामग्री तक भीग जाती है. इस स्कूल में 320 बच्चों का नामांकन है पर बरसात मे यहा पर बच्चें आधे से भी कम आते है.