बाड़मेर: कैलाश चौधरी ने टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों को लेकर गहलोत सरकार पर किया तंज, कहा...

कैलाश चौधरी ने गहलोत सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि टिड्डी मामले में सरकार गंभीर नहीं है.

बाड़मेर: कैलाश चौधरी ने टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों को लेकर गहलोत सरकार पर किया तंज, कहा...
कैलाश चौधरी ने बाड़मेर जिले के टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया.

भूपेश आचार्य/बाड़मेर: केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी बाड़मेर जिले के टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर किसानों से मिले और हालात का जायजा लिया. इस दौरान चौधरी ने गहलोत सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि टिड्डी मामले में सरकार गंभीर नहीं है. गुजरात सरकार ने किसानों को तुरंत राहत दे दी है लेकिन गहलोत सरकार अभी तक राहत नहीं दे पा रही है.

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने बाड़मेर जिले के टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया और हालात का जायजा लिया और किसानों से रूबरू होकर फसल खराबे की जानकारी ली. इस दौरान केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने गहलोत सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि टिड्डी मामले में सरकार गंभीर नहीं है क्योंकि गुजरात सरकार ने किसानों को तुरंत राहत दे दी है लेकिन गहलोत सरकार अभी तक राहत नहीं दे पा रही है

साथ ही, केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि गहलोत सरकार ने समय पर गिरदावरी नहीं करवाई और टिड्डी नियंत्रण के लिए विभागीय कर्मचारियों ने भी मदद नहीं की थी. टिड्डी के पाकिस्तान में प्रवेश के बाद ही भारत सरकार एवं पाक के बीच इस संदर्भ में वार्ता की गई लेकिन पाक की ओर से कोई सकारात्मक जवाब नहीं आया. ऐसे टिड्डी अनियंत्रित होकर आगे बढ़ गई अभी स्थिति काफी हद तक नियंत्रित है. 

वर्तमान में, पश्चिमी राजस्थान में 15-20 स्थानों पर स्टडी के छोटे-छोटे दल है, उन्हें आगामी दो-तीन दिनों में खत्म कर दिया जाएगा. भविष्य में भी इस प्रकार की आग से समय पर निपटने के लिए सरकार ने 100 मशीनें खरीदने की योजना बनाई है, जिसके तहत 10 महीने 2 दिन में यंहा पहुंच जाएगी, पाक से आने वाले नई टिड्डी दल के लिए बीएसएफ का व्रत करवा दिया गया है, इससे समय पर इतना मिल जाएगी,

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने गहलोत सरकार  से मांग की है की राज्य सरकार एसडीआरएफ का फंड तुरंत किसानों में वितरित कर राहत प्रदान करें. फंड की आवश्यकता पड़ती है तो केंद्र सरकार मदद करने को तैयार है.