close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बाड़मेर: भीषण गर्मी के चलते 100 डिग्री पहुंचा विद्युत ट्रांसफार्मर का पारा, डिस्कॉम ने लगाए कूलर

बाड़मेर शहर में 33 केवी के 132 सब स्टेशन हैं और इनमें से 95 फीसदी में पंखे-कूलर की संख्या बढ़ाई जा रही है. इससे इनके तापमान में 10 फीसदी तक कमी लाई गई है.

बाड़मेर: भीषण गर्मी के चलते 100 डिग्री पहुंचा विद्युत ट्रांसफार्मर का पारा, डिस्कॉम ने लगाए कूलर
प्रतीकात्मक तस्वीर

बाड़मेर: भीषण गर्मी में विद्युत ट्रांसफार्मरों का पारा भी उबाल पर आ गया है. पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर शहर के विद्युत सब स्टेशनों में लगे ट्रांसफार्मरों का पारा 80 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा पहुंच गया. इसे घटाने के लिए डिस्कॉम को सभी जगह कूलर लगाने पड़ रहे हैं. 

बाड़मेर शहर में 33 केवी के 132 सब स्टेशन हैं और इनमें से 95 फीसदी में पंखे-कूलर की संख्या बढ़ाई जा रही है. इससे इनके तापमान में 10 फीसदी तक कमी लाई गई है. निर्धारित से ज्यादा तापमान होने पर इन ट्रांसफार्मर के बस्ट होने का खतरा रहता है. साथ ही ट्रिपिंग बढ़ जाती है. ऐसे में इस बार बड़ी संख्या में ट्रांसफार्मर पर कूलर-पंखे लगाने पड़े हैं. 

जानकारी के मुताबित विद्युत ट्रांसफार्मरों का तापमान 80 डिग्री तक रह सकता है. इनमें ऑयल व वाइंडिंग तपमान मापने के लिए मीटर लगे हुए हैं. इनमें 80 डिग्री तक तापमान रिकॉर्ड किया गया है. कुछ सब स्टेशन पर तो पंखों को ट्रांसफार्मर के साथ इनबिल्ट कर दिया गया है. जैसे ही निर्धारित से ज्यादा तापमान हो जाता है, पंखे स्वत: चलते हैं. 

एक तरफ जहां 100 केवीए डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर 45 डिग्री तापमान तक बेहतर ढंग से काम करता है. उससे अधिक गर्मी और ऑयल की तपन के बाद ट्रिपिंग व फेज टूटने की शिकायतें बढ़ने लगती हैं. बिजली खपत का लोड बढ़ने के कारण ऐसे ट्रांसफार्मर से निर्धारित से ज्यादा अधिक लोड का डिस्ट्रीब्यूशन किया जा रहा है. 

गर्मी में इंसान मवेशियों के हैरान परेशान होने की खबरों के बाद पश्चिमी राजस्थान में मशीनों के गर्मी की चपेट में आने से साफ अंदाजा लगाया जा सकता है कि यहां गर्मी अपने पूरे तांडव पर है. अब देखना यह है कि कुदरत इस गर्मी से कब इस इलाके को मानसून की बरखा से निजात दिलाती है.