राजस्थान निकाय चुनाव 2019 से पहले संभागीय आयुक्त ने की कानून व्यवस्था की समीक्षा

इसी प्रकार नगरीय निकायों में वार्डो मे भी बढ़ोतरी हुई है इसलिए संभव है कि किसी मतदाता का मतदान केन्द्र परिवर्तित हो गया हो इसलिए इसकी भी पूर्व जानकारी मतदाताओं को दी जानी सुनिश्चित करें.

राजस्थान निकाय चुनाव 2019 से पहले संभागीय आयुक्त ने की कानून व्यवस्था की समीक्षा

जालोर: जोधपुर संभागीय आयुक्त बी.एल. कोठारी एवं पुलिस महानिरीक्षक सचिन मित्तल ने जिले के जालोर एवं भीनमाल नगरीय निकायों के होने वाले आम चुनावों के सम्बन्ध में क्षेत्रों में कानून एवं शांति व्यवस्था के लिए रिटर्निंग अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों एवं राजनैनिक दलों के पदाधिकारियों की अत्यावश्यक बैठक ली. तथा चुनावों के लिए अब तक की गई विभिन्न तैयारियों की समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश भी दिए. 

जोधपुर संभागीय आयुक्त बी.एल. कोठारी ने सोमवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आयोजित बैठक में कहा कि नगरीय निकाय चुनावों से जुड़े प्रमुख अधिकारी एवं पुलिस अधिकारी निष्पक्ष, स्वतन्त्र एवं शांति पूर्वक चुनावों को अंजाम देने के लिए पूर्ण मनोयोग एवं गंभीरता पूर्वक इस महत्वपूर्ण कार्य को सम्पन्न करवाएं. 

उन्होंने कहा कि गत लोकसभा एवं विधानसभा आम चुनावों में बीएलओं द्वारा विभिन्न प्रकार की मतदाता पर्चियां बांटी गई थी लेकिन नगरीय निकाय चुनावों में मतदाता पर्चियां वितरित नहीं की जाएगी. इसलिए राजनैतिक दल एवं अभ्यर्थी की जिम्मेदारी होगी कि वह मतदाताओं को मतदान केन्द्र एवं मतदाता संख्या की आवश्यक जानकारी यथा समय में देना सुनिश्चित करें. 

इसी प्रकार नगरीय निकायों में वार्डो मे भी बढ़ोतरी हुई है इसलिए संभव है कि किसी मतदाता का मतदान केन्द्र परिवर्तित हो गया हो इसलिए इसकी भी पूर्व जानकारी मतदाताओं को दी जानी सुनिश्चित करें. उन्होंने कहा कि 16 नवम्बर को सुबह 7.00 बजे मतदान के पूर्व सम्बन्धित जोनल मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में मॉक पोल अनिवार्य रूप से करवायें वही दोनो नगरीय निकायों में ईवीएम आरक्षित रखें ताकि आवश्यकता अनुसार उपयोग लिया जा सकें. 

उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों के लिए निर्धारित बूथों पर स्थानीय नगर निकाय द्वारा बेरिकेटिंग एवं पानी आदि की व्यवस्था की जाएगी. बैठक में पुलिस महानिरीक्षक सचिन मित्तल ने पुलिस अधीक्षक से नगरीय निकाय के लिए आवश्यक जानकारी लेने के उपरान्त बताया कि जिले के दोनो नगरीय निकायों में पुलिस का पर्याप्त जाब्ता लगाए जाने के अतिरिक्त पुलिस की मोबाइल पार्टियां भी निरन्तर भ्रमण करते हुए चुनावों पर कडी नजर रखेगी। तथा कानून एवं शांति व्यवस्था में व्यवधान पैदा करने वालों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी.