close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सीकरी में दर्दनाक हादसा, बस पर बिजली की तार गिरने से 10 लोग झुलसे

जिस समय यह हादसा हुआ बस हरियाणा के पुन्हाना जाने के लिए ट्रांसर्फमर के पास खड़ी थी तभी अचानक उस पर बिजली की तार टूटकर जा गिरी और अचानक बस में करंट फैल गया.

सीकरी में दर्दनाक हादसा, बस पर बिजली की तार गिरने से 10 लोग झुलसे
स्थानीय लोगों की सहायता से सभी घायलों को सीकरी अस्पताल पहुंचाया गया.

भरतपुर: नगर विधानसभा क्षेत्र के गांव गुलपाड़ा में बुद्दवार को एक बड़ा हादसा हुआ. खबर के मुताबिक गुलपाड़ा के बस स्टैंड पर खड़ी एक प्राइवेट बस गुलपाड़ा से कामा जाने वाली थी. अचानक 11 हजार केवी बिजली का तार बस पर गिर गया जिससे बस में बैठे करीब 35 सवारी गम्भीर रूप से घायल हो गए. 

जिस समय यह हादसा हुआ बस हरियाणा के पुन्हाना जाने के लिए ट्रांसर्फमर के पास खड़ी थी तभी अचानक उस पर बिजली की तार टूटकर जा गिरी. अचानक बस में करंट फैल गया और बस में सवार यात्रियों की चीख-पुकार मच गई. कुछ यात्री बस की खिड़की से कूद गए जबकि कुछ अंदर रह गए, जिससे वह झुलस गए. हादसे में दस लोगों झुलस जाने की खबरे हैं. 

वहीं स्थानीय लोगों की सहायता से सभी घायलों को सीकरी अस्पताल पहुंचाया गया. जिसमें करीब 11 लोगो को जो कि बेहद गम्भीर रूप से घायल थे उनके अलवर रेफर कर दिया गया. जिसमें गंभीर रूप से घायल चार जनों को जयपुर रैफर किया है. वहीं, अन्य लोगों को सीकरी अस्पताल में भर्ती कराया है. 

उधर, विद्युत निगम के समय पर आपूर्ति बंद नहीं करने और एम्बुलेंस के देरी से पहुंचने से भड़के लोगों ने गाड़ी के शीशे तोड़ दिए. देरी से पहुंची अग्निशमन चालक के साथ कुछ लोगों ने मारपीट कर दी. विरोध में लोगों ने गुलवाडा कस्बे का बाजार बंद कर दिया. 

बताया जा रहा है कि जब निजी बस बिजली की तार टूटकर बस पर गिरी तो झटका लगने पर लोग खिड़की से कूदने लगे. चीख-पुकार सुन लोगों ने विद्युत निगम को फोन किया लेकिन किसी ने रिसीव नहीं किया. बाद में कुछ लोगों ने एक दुकान से प्लास्टिक का पाइप से विद्युत तार को अलग किया. तब जाकर लोगों ने झुलसे लोगों को बाहर निकाला. 

सूचना पर सीकरी पुलिस मौके पर पहुंच गई और कुछ घायलों को सरकारी गाड़ी से अस्पताल ले गई. जबकि एम्बुलेंस के देरी से पहुंचने पर लोगों ने उसके शीशे तोड़ दिए जबकि अग्निशमन वाहन अंत में पहुंचा. इससे नाराज लोगों ने चालक के साथ मारपीट कर दी. सूचना पर नगर एसडीएम सुरेशचंद यादव व सीओ मौके पर पहुंचे और समझाइश की. लोगों ने जाम लगाने का प्रयास किया जिस पर समझाइश कर मामला शांत कराया और लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया.