भरतपुर: ऑल इंडिया हेरिटेज होटल मीट में जुटेंगे देश-विदेश के कई दिग्गज

होटल मीट का मुख्य मकसद भरतपुर को पर्यटन के नक्शे पर पहचान दिलाने की कोशिश करना है

भरतपुर: ऑल इंडिया हेरिटेज होटल मीट में जुटेंगे देश-विदेश के कई दिग्गज
मीट में मुख्य वक्ता सिंगापुर की जीनवी व आस्ट्रेलिया से विनोद डेनियल होंगे.

भरतपुर/देवेन्द्र सिंह: भरतपुर शहर में आगामी 12 से 15 सितम्बर तक ऑल इण्डिया हेरिटेज होटल मीट का आयोजन होगा. इसमें देशभर से हेरिटेज होटल के मालिक व संचालक भाग लेंगे. आयोजन के संबंध में द इण्डियन हेरिटेज होटल्स एसोसिएशन (आईएचएचए) के सदस्य कुंवर दीपराज सिंह ने बताया कि 'होटल मीट का भरतपुर में आयोजन करने का मुख्य मकसद उसको पर्यटन के नक्शे पर पहचान दिलाने की कोशिश करना है'. 

कुंवर दीपराज ने कहा 'अभी तक भरतपुर जिले को लोग केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान के रूप में ही जानते है. लेकिन भरतपुर का बिल्ड हैरिटेज बहुत अच्छा है व खूबसूरत है. यहां के पुरा महत्व के जो स्थल है उनसे सबको रू-ब-रू करवाना ही इस मीट का मकसद है. इससे भरतपुर पर्यटन स्थलों के मानचित्र पर अपनी पहचान बना सकेगा.'

आयोजक दीपराज सिंह ने बताया कि होटल मीट में आने वाले वीवीआईपी की सूची में एसोशिएशन के अध्यक्ष जोधपुर के महाराज गज सिंह,लक्ष्यराज सिंह मेवाड़, पंजाब के गवर्नर वीपी सिंह बिदनोर, प्रदेश की पर्यटन मंत्री कृष्णेन्द्र कौर दीपा, विधानसभा के डिप्टी स्पीकर राव राजेन्द्र सिंह, वन एंव पर्यावरण मंत्री गजेंद्र खींवसर,सांसद दुष्यंत सिंह सहित 100 से अधिक वीवीआईपी मौजूद रहेंगे. 

हालांकि कार्यक्रम में प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के आने का कार्यक्रम भी प्रस्तावित है, लेकिन उसकी आधिकारिक पुष्टी अभी नहीं की गई है. मीट में मुख्य वक्ता सिंगापुर की जीनवी व आस्ट्रेलिया से विनोद डेनियल होंगे.

आयोजक कुंवर दीपराज सिंह ने बताया कि भरतपुर जिले में डीग के जल महल, लोहागढ़ किला, भरतपुर के राजकीय संग्रहालय, वैर का सफेद महल व कामां के प्रमुख मंदिर हैं, जो अभी पर्यटकों से दूर बने हुए हैं. इस मीट के जरिए प्रयास होगा कि इन स्थलों पर पर्यटकों को लाया जाए, जिससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और जिले के युवाओं को रोजगार भी मिल सकेगा.

साथ ही उन्होंने कही कि मीट में इस बात पर भी चर्चा होगी की हेरिटेज होटलों में और किस तरह विश्व स्तरीय सुविधा पर्यटकों को दी जाए.साथ ही हैरीटेज होटल्स को जीएसटी में किस तरह रीबट सरकार दे इस पर भी विचार किया जाएगा,इसके अलावा टूरिज्म पालिसी पर भी चर्चा की जाएगी.