close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भरतपुर: गौतस्करों ने पुलिस की जीप को मारी टक्कर, फायरिंग को दौरान हुए फरार

पुलिस ने गौवंश से भरे ट्रक को जब्त कर गौवंश को मुक्त कराया, लेकिन पुलिस की तमाम कोशिशों के बाद गोतस्कर भागने में सफल रहे.

भरतपुर: गौतस्करों ने पुलिस की जीप को मारी टक्कर, फायरिंग को दौरान हुए फरार
पुलिस ने ट्रक से बरामद 22 गौवंश व 4 बछड़े को गौशाला के सुपर्द कर दिया है.

देवेन्द्र सिंह/भरतपुर: राजस्थान के भरतपुर में एक फिर गौतस्करी का मामला सामने आया है. खबर के मुताबिक गौतस्करों ने दुस्साहस करते हुए पुलिस जीप को टक्कर मार दी और फायरिंग करते हुए मौके से फरार हो गए. मामला सेवर थाना के सेवर-भरतपुर बाईपास का है. जहां पर देर रात्रि को पैट्रोलिंग कर रही पुलिस की चेतक संख्या 2 जीप को गौतस्करों ने पीछे से टक्कर मार दी, जिससे पुलिस जीप पलट गई. 

वहीं, इस हमले में चेतक जीप में सवार हैड कांस्टेबल दाताराम, चालक दीवान, कांस्टेबिल वीरेंद्र और फियाज खान घायल हो गए. हादसे के बाद घायलों को आरबीएम जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. खबर के मुताबिक हेड कांस्टेबल दाताराम की हालत गम्भीर है, वहीं, अन्य घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद छूट्टी दे दी गई है. दूसरी और पुलिस ने गौवंश से भरे ट्रक को जब्त कर गौवंश को मुक्त कराया, लेकिन पुलिस की तमाम कोशिशों के बाद गोतस्कर भागने में सफल रहे.

खबर के मुताबिक, आधी रात को पुलिस अधिकारी हैदरअली जैदी ने जब एक मैसेज सुना तो उन्होंने पुलिस कंट्रोल से घटना की पूरी जानकारी ली. वहीं, पुलिस के आला अफसरों को जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली तो हड़कम्प मच गया. एसपी हैदरअली जैदी ने घटना की गम्भीरता को देखते हुए डीएसपी भरतपुर ग्रामीण परमाल गुर्जर को मौके के रवाना किया. जिसके बाद डीएसपी परमाल गुर्जर ने अपनी टीम के साथ गौतस्करों का पीछा किया और नाकाबंदी करवाई. जिसके बाद गौतस्कर गौवंश से भरे ट्रक को छोडकर फरार हो गए है. पुलिस ने ट्रक से बरामद 22 गौवंश व 4 बछड़े को गौशाला के सुपर्द कर दिया है. 

वहीं, इमामले के बाद भरतपुर एसपी हैदरअली जैदी ने गोतस्करी रोकने के लिए सभी रास्ट्रीय राजमार्ग और स्टेट हाइवे पर पुलिस पैट्रोलिंग को बढ़ाया है. इसी के तहत चेतक संख्या-2 में तैनात पुलिस जाब्ता भरतपुर-सेवर बाईपास पर पैट्रोलिंग कर रहा था, जब यह घटना हुई और इस गौतस्करी की घटना का सामने आई. 

अब इस घटना के बाद अहम सवाल यह है कि जिस 10 चक्का ट्रक में गौवंश को भरकर तस्करी कर ले जाया जा रहा था उस ट्रक को रास्ते मे पड़ने वाली पुलिस चैक पोस्ट पर क्यों नहीं रोका गया. ऐसे में सवाल यह भी है कि खाकी के खौफ से बेखौफ गौतस्कर पुलिस को अंगूठा दिखा रहे हैं.