close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भरतपुर में खून के सौदागर फिर हुए सक्रिय, पीड़ित मरीज ने दर्ज कराई रिपोर्ट

सेवर के धांधोली गांव निवासी विक्रम सिंह जोगी ने बताया कि उसकी पत्नी सोनम को प्रसव के लिए शनिवार को सुबह करीब 5 बजे जनाना अस्पताल में भर्ती कराया था.

भरतपुर में खून के सौदागर फिर हुए सक्रिय, पीड़ित मरीज ने दर्ज कराई रिपोर्ट
ठग एक यूनिट के नाम पर 4 हजार रुपए लेकर चंपत हो गया.

देवेन्द्र सिंह/भरतपुर: राजस्थान के भरतपुर के राजकीय जनाना अस्पताल में खून के दलाल फिर सक्रिय हो गए हैं. इनकी पहुंच लेबर रूम तक है. ऐसा ही एक मामला फिर सामने आया है. पीड़ित ने घटना के सम्बंध में मथुरागेट में रिपोर्ट दर्ज कराई है. जिसमें उसने बताया है कि शनिवार सुबह एक ठग प्रसूता के पति को ब्लड उपलब्ध कराने का झांसा देकर आरबीएम अस्पताल तक ले आया. यहां उसने 2 यूनिट के 10 हजार रुपए मांगे. बाद में एक यूनिट के नाम पर 4 हजार रुपए लेकर चंपत हो गया. लेकिन, ठग जनाना अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया. इस पर प्रसूता के पति ने मथुरा गेट थाने में मुकदमा दर्ज कराया है. 

खबर के मुताबिक सेवर के धांधोली गांव निवासी विक्रम सिंह जोगी ने बताया कि उसकी पत्नी सोनम को प्रसव के लिए शनिवार को सुबह करीब 5 बजे जनाना अस्पताल में भर्ती कराया था. जहां उसने सुबह 5.45 बजे पुत्री को जन्म दिया, लेकिन इसके बाद उसकी पत्नी को खून की जरूरत पड़ गई. लेबर रूम की नर्स ने सुबह करीब 6 बजे सोनम के खून के सैंपल देते हुए 2 यूनिट ब्लड का इंतजाम करने को कहा. तभी वहां एक 35 वर्षीय युवक आया. उसने मेरी मां से कहा कि तुम फिक्र मत कर. मेरी जान-पहचान है और मैं बात करके खून दिलवा दूंगा.

विक्रम सिंह जोगी के मुताबिक उसकी मां उससे बोली भैया मैं तेरा अहसान कभी नहीं भूलूंगी. तू जल्दी से खून की व्यवस्था करा दें और मां ने मुझे उसके साथ भेज दिया। मैं उसके साथ आरबीएम अस्पताल ब्लड बैंक आया. इस दौरान रास्ते में वह किसी से बार-बार फोन पर बात करता रहा. आरबीएम अस्पताल पहुंचने पर ठग बोला तू यही इंतजार कर मैं ब्लड बैंक में व्यवस्था करके आता हूं. उसके कुछ देर बाद वह लौटकर आया और बोला एक यूनिट के 5 हजार रुपए के हिसाब से 2 यूनिट के 10 हजार रुपए लगेंगे। इस पर मैंने कहा कि पैसा कुछ कम कर लो. 

इस पर खून के दलाल ने कहा कि ठीक है 9 हजार रुपए ले लेंगे. इस पर मैंने उससे कहा फिलहाल मेरे पास 4 हजार रुपए हैं बाकी बाद में दे देंगे गांव से रुपए मंगाए हैं. तब तक एक यूनिट ब्लड ही दिला दो. उससे 4 हजार रुपए, ब्लड के सैंपल और पर्चा लेकर ठग बोला कि यहीं रुक में अभी एक यूनिट ब्लड लेकर आता हूं. इसके बाद वह काफी देर तक नहीं लौटा तो शक होने पर उसे तलाश किया. ब्लड बैंक में पूछा तो वहां बताया कि यहां तो अभी कोई ब्लड लेने नहीं आया. बाद में, उसके फुटेज जनाना अस्पताल की सीसीटीवी में देखे और मथुरागेट थाना में रिपोर्ट दी है. 

गौरलतब है कि जनाना अस्पताल में ब्लड के दलाल काफी समय से मरीजों की जिंदगी से खेल रहे हैं. पिछले माह भी एक दलाल खून के नाम पर 6 हजार रुपए लेकर भाग गया था. परिजन ब्लड का इंतजार ही करते रह गए. वर्ष 2016 में भी एक ठग ने मरीज के परिजनों को ब्लड की थैली में रंग घोलकर दे दिया और 5 हजार रुपए ठग लिए थे.