Dholpur में डीएपी खाद की किल्लत, मची अफरा-तफरी में दो महिलाएं हुई चोटिल
X

Dholpur में डीएपी खाद की किल्लत, मची अफरा-तफरी में दो महिलाएं हुई चोटिल

किसानों की भीड़ ऐसी उमड़ी की धक्का-मुक्की तक नौबत आ गई. 

Dholpur में डीएपी खाद की किल्लत, मची अफरा-तफरी में दो महिलाएं हुई चोटिल

Dholpur: जिले में डीएपी खाद (DAP fertilizer) की किल्लत खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. जिले के किसान (Farmer) डीएपी खाद के लिए दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर हो रहे हैं. सैपऊ कस्बे के राजकीय स्कूल पर पुलिस कस्टडी में डीएपी खाद का वितरण कराया गया, लेकिन किसानों की भीड़ ऐसी उमड़ी की धक्का-मुक्की तक नौबत आ गई. महिला-पुरुष किसानो में अफरा तफरी मच गई जिससे दो महिलाएं चोटिल हो गई. 

मौके पर मौजूद पुलिस (Police) को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. तब जाकर मामला शांत हो पाया. रबी फसल (Rabi crop) वुबाई का प्रमुख सीजन चल रहा है सरसों, गेहूं एवं आलू फसल के साथ अन्य नगदी फसलों की बुवाई के लिए किसान डीएपी खाद के लिए तरस रहा है. लेकिन दर-दर की ठोकरें खाने के बाद भी किसानों को डीएपी खाद उपलब्ध नहीं हो रही है. 

यह भी पढ़ें- Dholpur: आने वाले चुनावों को लेकर तैयारियां पूरी, जिला कलक्टर ने दिए ये निर्देश

डीएपी खाद की असीमित डिमांड एवं सीमित आवक होने की वजह से खेती पिछड़ रही है. जिससे किसानों को परेशानी में खड़ा कर दिया है. सैपऊ कस्बे के राजकीय विद्यालय पर कृषि विभाग (Agriculture Department) द्वारा खाद वितरण की व्यवस्था की गई थी. लेकिन सुबह से ही सैकड़ों की तादाद में महिला पुरुष किसानों की भीड़ जमा हो गई. भारी भीड़ को देखते विभाग द्वारा पुलिस की व्यवस्था कराई गई. लेकिन खाद वितरण (Fertilizer distribution) के दौरान अचानक अफरा-तफरी मच गई. धक्का-मुक्की होने की वजह से दो महिलाएं जमीन पर गिर गई. दोनों महिलाओं के गंभीर चोटें आई हैं.

यह भी पढ़ें- Dholpur में मूर्ति विसर्जन के दौरान 5 युवकों की हुई मौत, मौके पर मचा हाहाकार

मामले की सूचना पाकर थाना प्रभारी भंवर सिंह (Bhanwar Singh) मौके पर पहुंच गए. जिन्होंने किसानों को व्यवस्थित कर व्यवस्था को सुचारू किया. लेकिन पर्याप्त मात्रा में किसानों को डीएपी खाद नहीं मिलने से निराशा हाथ लग रही है. धौलपुर पुलिस लाइन (Dholpur Police Line) पर सैकड़ों की तादात में लाइन में खड़े और जमीन पर बैठे किसान अपनी बारी का इंतज़ार करते-करते घर चले जाते हैं, लेकिन उन्हें खाद नसीब नहीं हो पाई. सुबह से शाम तक जिला मुख्यालय सहित बाड़ी, बसेड़ी, राजाखेड़ा, सरमथुरा, सैपऊ, मनिया, मांगरोल में डीएपी खाद की भारी किल्लत देखी जा रही है. 
Report- Bhanu Sharma 

Trending news