धौलपुर की सड़कों पर मौत का सफर !

धौलपुर की सड़कें मौत का सफर बनती जा रही है. गत 11 माह में हुई दुर्घटनाओं के आंकड़ें इसी तरफ इशारा कर रहे हैं.

धौलपुर की सड़कों पर मौत का सफर !
धौलपुर में आए दिन सड़क दुर्घटनाओं में लोग मौत का शिकार हो रहे हैं

धौलपुर: जिले की सड़कें मौत का सफर बनती जा रही है. गत 11 माह में हुई दुर्घटनाओं के आंकड़ें इसी तरफ इशारा कर रहे हैं. जिले में इस वर्ष सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या में माह नवंबर तक ही 20 प्रतिशत बढ़ोत्तरी हुई है. इसे लेकर पुलिस विभाग भी बेहद चिंतित दिखाई दे रहा है. 

यातायात नियमों की अनदेखी के कारण धौलपुर में आए दिन सड़क दुर्घटनाओं में लोग मौत का शिकार हो रहे हैं. वाहन चालकों की यातायात नियमों की अनदेखी और वाहन चलाते समय बरती जाने वाली लापरवाही ही दुर्घटनाओं का सबसे बड़ा कारण सामने आया है. पुलिस की सख्ती व चेतावनी के बाद भी यातायात नियमों का पालन करने में लोग अनदेखी करते हैं. इसका ही नतीजा है कि धौलपुर जिले पिछले साल की तुलना में इस साल नवंबर माह तक ही 20 प्रतिशत अधिक व्यक्तियों ने सड़क दुर्घटनाओं में दम तोड़ दिया है.

इस वर्ष 1 जनवरी 2019 से 30 नवम्बर तक 217 व्यक्तिओं को सड़क दुर्घटनाओं में असमय ही अपने जीवन से हाथ धोना पड़ा है. जबकि विगत वर्ष 2018 में कुल 174 व्यक्तियों की जान सड़क दुर्घटनाओं में गई थी. इस प्रकार इस साल जनवरी से नवम्बर तक ही मात्र 11 माह में धौलपुर जिले में सड़क दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या में लगभग 20 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है. वहीं इसी वर्ष 2019 के शेष रहे दिसम्बर माह में अब तक 7 से 8 और लोगों की मौत सड़क हादसों में हो गई जो बेहद चिन्ताजनक है.