close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

डॉक्टर पति से नाराज पत्नी ने पति की प्रेमिका और बच्चे को जलाया जिंदा, जानिए पूरा मामला

भरतपुर में डॉक्टर की नाराज पत्नी ने पति की प्रेमिका और उसके बच्चे को गुरुवार को जिंदा जला दिया.

डॉक्टर पति से नाराज पत्नी ने पति की प्रेमिका और बच्चे को जलाया जिंदा, जानिए पूरा मामला
पुलिस मामले की जांच कर रही है.

देवेंद्र सिंह, भरतपुर: भरतपुर(Bharatpur) शहर में आज एक बड़ी घटना हुई. जिसमें एक डॉक्टर की पत्नी ने अपने पति की कथित प्रेमिका व उसके 6 साल के मासूम को आग के हवाले कर दिया. आग लगाने के बाद खुद उसने पति को फोन से बताया कि उसने उनको आग लगा दी है बचाना है तो बचा ले. लेकिन इस आग की चपेट में आने से दोनों की मौत हो गई और उन्हें नहीं बचाया जा सका. घटना को अंजाम देने के बाद डॉक्टर की पत्नी मौके से भाग गई.

अहम बात यह है कि इस घटना को अंजाम देने में डॉक्टर की मां ने भी अपनी बहू का साथ दिया और वारदात में मौजूद रही. पूरा मामला हाईप्रोफाइल डॉक्टर दंपति से जुड़ा है जिसमें पति डॉक्टर सुदीप गुप्ता तो सरकारी चिकित्सक है और पत्नी प्राइवेट अस्पताल चलाती है. इसी अस्पताल में कभी वह मृतक प्रेमिका रिसेप्सनिस्ट हुआ करती थी. जो बाद में डॉक्टर की प्रेमिका और डॉक्टर की पत्नी की सौतन बन गई. मामले में पुलिस ने डॉक्टर की आरोपी पत्नी डॉ सीमा गुप्ता व उसकी मां को हिरासत में ले लिया है.

भरतपुर की सूर्या सिटी का है मामला
पूरा मामला भरतपुर की आगरा रोड पर हाईवे स्थित पॉश कॉलोनी सूर्या सिटी का है. जहां पर  डॉक्टर सुदीप गुप्ता का मकान है. आज डॉक्टर सुदीप गुप्ता के मकान में अचानक आग लग गई . आग का धुआं जब कॉलोनी के लोगों ने उठता हुआ देखा तो इसकी सूचना फायरब्रिगेड व पुलिस को दी. आग लगने की सूचना पर पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह, कलेक्टर डॉ जोगाराम , एसपी हैदर अली जैदी सहित तमाम पुलिस अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंच गए व बचाव और राहत कार्य चलवाकर दोनों को बचाने की कोशिश की लेकिन बचाया नहीं जा सका.

जान बचाने का प्रयास रहा असफल
आगजनी की सूचना मिलने पर फायर बिग्रेड मौके पर पहुंची और फायर बिग्रेड की दमकल ने घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया. एक कमरे में मां बेटा के बंद होने पर पुलिसकर्मियों ने कमरे की दरवाजों को तोड़कर दोनों मां बेटे को बाहर निकाल कर एंबुलेंस के जरिए सोलंकी हॉस्पिटल पहुंचाया. जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. राहत और बचाव कार्य के दौरान नगर निगम की बडी लापरवाही सामने आई,फायरमैन के पास मास्क सहित जरूरी संसाधन नहीं थे ,अगर पुलिसकर्मी हिम्मत नहीं दिखाते तो दोनों को बाहर निकालना बहुत मुशिकल था.

प्रारंभिक जांच में यह आया सामने
प्रारंभिक जांच में पता चला है कि घटना को  राजकीय आरबीएम अस्पताल के चिकित्सक डॉ सुदीप गुप्ता की पत्नी डॉ सीमा गुप्ता व उसकी मां ने अंजाम दिया है. डॉक्टर की पत्नी डॉक्टर सीमा गुप्ता ने पति के मकान में आग लगाकर उसकी प्रेमिका महिला व 6 साल के मासूम को उस आग के हवाले कर एक कमरे में बंद कर दिया जहां दम घुटने से दोनों की मौत हो गई. घटना के पीछे वजह एक्स्ट्रा मेरियटल अफेयर होना बताया जा रहा है. मृतक प्रेमिका  महिला अपने प्रेमी  के मकान में ही एक सैलून चलाती थी. जिससे डॉक्टर का अफेयर था और डॉक्टर ने उसे अपनी दूसरी पत्नी की तरह ही रखता था. लेकिन जब इसकी जानकारी उसकी पहली पत्नी जो खुद पेशे से डॉक्टर थी उसको हुई तो आज दोनों पक्षो में कहासुनी हुई और उसके बाद यह आगजनी की घटना सामने आई है. जिसमें एक महिला व मासूम बच्चे को आग लगाकर मार डाला गया.

एक्स्ट्रा मेरियटल अफेयर बना मौत का कारण
बताया गया है कि डॉक्टर सुदीप गुप्ता का एक्स्ट्रा मेरियटल अफेयर था जिसको लेकर उसकी पत्नी को शक था आज उसकी पत्नी अपनी सास के साथ सूर्या सिटी पहुंची और कथित प्रेमिका के साथ मारपीट करते हुए स्प्रिट डालकर उसको आग के हवाले कर दिया.  मृतक महिला रिया उर्फ दीपा गुर्जर डॉक्टर सुदीप गुप्ता के श्रीराम हास्पीटल में रिसेपनिस्ट थी .जिससे डॉक्टर का अफेयर हो गया इसकी भनक जब डॉक्टर पत्नी को लगी तो उसको हास्पीटल से निकाल दिया लेकिन प्रेमी डॉक्टर ने उसको अलग मकान दिलाकर अलग रख दिया.इसको लेकर दोनों में  से अनबन होती रहती थी. इस बीच जब डॉक्टर सुदीप गुप्ता घटनास्थल पर पहुंचे तो आक्रोशित लोगों ने आरोपी डॉक्टर की भी जमकर धुनाई भी कर डाली है.

मामले में पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि घटना को अंजाम देने वाले को बख्शा नहीं जाएगा. हादसे में दो की मौत हुई है बहुत दर्दनाक घटना है. 

एसपी हैदर अली जैदी का कहना है कि इस दर्दनाक हादसे में 2 लोगों की मौत हुई है. एसपी का कहना है कि जिन लोगों ने घटना को अंजाम दिया है, उनको बख्शा नहीं जाएगा. एसपी जैदी का यह भी कहना है कि मौके पर मिले सबूतों से पता चल रहा है कि इस घटना को डॉक्टर की पत्नी ने अंजाम दिया है.