close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

धौलपुर: डेंगू से 10 साल के बच्ची की मौत, चिकित्सा विभाग के दावों की खुली पोल

जिले के सैपऊ थाना क्षेत्र के गांव नगला दिवालिया में 10 वर्षीय बच्ची की घातक बुखार से कस्बे के एक निजी क्लीनिक में उपचार के दौरान मौत हो गई.

धौलपुर: डेंगू से 10 साल के बच्ची की मौत, चिकित्सा विभाग के दावों की खुली पोल
मौत के बाद परिजनों में कोहराम मचा हुआ है. (प्रतीकात्मक फोटो साभार: DNA)

सुभाष रोहिशवाल, धौलपुर: जिले में वायरल बुखार का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है. इस कारण आम लोगों की जान पर खतरा मंडरा रहा है. जिले के सैपऊ थाना क्षेत्र के गांव नगला दिवालिया में 10 वर्षीय बच्ची की घातक बुखार से कस्बे के एक निजी क्लीनिक में उपचार के दौरान मौत हो गई. बच्ची की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया.

जिले में बायरल बुखार और मौसमी बीमारियों का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है. जिससे चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के दावों की पोल खुल कर सामने आ रही है.

पीड़ित राजेश कुशवाहा ने बताया कि उसके परिवार में करीब आधा दर्जन लोग बुखार की चपेट में हैं. उन्हीं के साथ उसकी 10 वर्षीय पुत्री दुर्गेश को भी बुखार आया था. तेज बुखार आने पर बच्ची को कस्बे के निजी क्लीनिक पर दिखाया था. बच्ची का स्वास्थ्य परीक्षण कर चिकित्सक ने भर्ती करा दिया.लेकिन कुछ दिन उपचार होने के बाद बच्ची की मौत हो गई. पीड़ित ने बताया कि बच्ची की मौत डेंगू बुखार से हुई है. 

निजी क्लिनिक के डॉ.केके गर्ग ने बताया कि बायरल की चपेट में आई बच्ची दुर्गेश को निजी क्लीनिक में  भर्ती कराया था. बच्ची का ब्लड शुगर काफी कम था. इसके अलावा दिमाग में भी इंफेक्शन था .बच्ची की नाजुक हालत होने पर रेफर कर दिया था. परिजन बच्ची की छुट्टी करा कर ले गए थे. लेकिन रास्ते में बच्ची की मौत हो गई. उधर मासूम बच्ची की मौत से पीड़ित परिवार में कोहराम मचा हुआ है. आपको बता दें कि मॉनसून के जाने के वक्त प्रदेश में बीमारियों का खतरा वैसे भी बढ़ जाता है. लेकिन अब डेंगू का कदम रखना लोगों के लिए दहशत का कारण बन रहा है.

Sanjay Yadav, News Desk