close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान में प्रतिवर्ष एक हजार हृदय रोगियों को मिलेगा नि:शुल्क इलाज

राजस्थान में हार्ट की विभिन्न बीमारियों से पीडित लोगों को अब न सिर्फ निशुल्क चिकित्सा सुविधा मिलेगी, बल्कि राज्य सरकार ऐसे सभी मरीज और उनके परिजनों के परिजन का खर्च भी खुद वहन करेगी. 

राजस्थान में प्रतिवर्ष एक हजार हृदय रोगियों को मिलेगा नि:शुल्क इलाज
संस्थान जयपुर में निशुल्क हार्ट कैम्प 2 जून को आयोजित करने जा रहा है.

जयपुर: राजस्थान के हृदय रोगियों के लिए एक सुखद खबर है. राजस्थान सरकार और गुजरात के प्रशान्ति मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउंडेशन के साथ MOU हो चुका है. इस MOU के तहत राजस्थान में पहले कैंप लगाये जायेंगे और इसके बाद चिन्हित संभावित हृदय रोगी ,चाहे वो बच्चे हो या फिर व्यस्क उनका राजकोट और अहमदाबाद में निशुल्क ईलाज किया जायेगा. 

खबर के मुताबिक, एक साल के अंदर एक हजार हृदय रोगियों का ईलाज किया जाएगा. ईलाज के लिए जाने वाले परिवार के लिए परिवहन का खर्चा 5 हजार की राशि के तौर पर राजस्थान मुख्यमंत्री सहायता कोष से दिया जायेगा. स्वास्थ्य भवन में हुए इस MOU के दौरान राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा, एसीएस रोहित कुमार ,मिशन निदेशक NHM डॉ समित शर्मा और PMSRF के प्रतिनिधि मौजूद रहे. 

MOU के मुताबिक़ निशुल्क इलाज के दायरे में आने वाले मरीज के लिए 60 वर्ष के कम उम्र और साल की 2 लाख 40 हजार से कम इनकम होनी चाहिए. संस्था के राजकोट में स्थित अस्पताल में 18 से 60 वर्ष तक और अहमदाबाद में छोटे बच्चों का इलाज होगा. आगामी 2 जून से इस नई पहल को लेकर कैंप लगाये जायेंगे जिसके बाद मरीजों को चिन्हित किया जायेगा.

राजस्थान में हार्ट की विभिन्न बीमारियों से पीडित लोगों को अब न सिर्फ निशुल्क चिकित्सा सुविधा मिलेगी, बल्कि राज्य सरकार ऐसे सभी मरीज और उनके परिजनों के परिजन का खर्च भी खुद वहन करेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर इसके लिए चिकित्सा विभाग ने आज गुजरात के प्रशांती मेडिकल सर्विसेज रिसर्च फाउण्डेशन के साथ नि:शुल्क चिकित्सा और परिवहन खर्च का एमओयू करार किया. प्रशांती मेडिकल सर्विसेज रिसर्च फाउण्डेशन का श्री सत्य साई सेवा अस्पताल में हार्ट के मरीजों का निशुल्क उपचार किया जा रहा है. फिर चाहे वो ओपन हार्ट सर्जरी हो या फिर बायपास सर्जरी. पिछले एक साल से संस्था राजस्थान में काम कर रही है. जिससे प्रभावित होकर सूबे के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संस्था के काम को एक विधिपूर्वक संचालित करना तय किया.

प्रशांती मेडिकल सर्विसेज रिसर्च फाउण्डेशन के अहमदाबाद और राजकोट में श्री सत्य साई सेवा अस्पताल संचालित किए जा रहे है. अस्पताल में स्थापना के बाद से अब तक देशभर के करीब 16 लाख लोगो को निशुल्क जांच की गयी है. वहीं 18 साल में करीब 16 हजार ह्दयरोगियों के निशुल्क ऑपरेशन किए गये है. वर्ष 2018 से अब तक राजस्थान के करीब 250 से अधिक ह्दयरोग से पीड़ित लोगो का निशुल्क उपचार किया जा चुका है. 

राज्य सरकार के साथ एमओयू साइन होते ही संस्थान जयपुर में निशुल्क हार्ट कैम्प 2 जून को आयोजित करने जा रहा है. ऐसे ही शिविर दूसरे जिलों में भी आयोजित किए जाएंगे, जहां से मरीजों को चिन्हित मरीजों में से बच्चों की अहमदाबाद और बड़े मरीजों की राजकोट में निशुल्क सर्जरी होगी. सरकार के साथ हुए दो साल के एमओयू के तहत संस्थान हर साल एक हजार मरीजों का निशुल्क ऑपरेशन करेगी. इसमें शर्ते ये रहेगी कि मरीज की उम्र 60 साल से कम हो और परिवार की आमदनी हर माह 20 हजार तक ही हो. यानी गरीब ही नहीं मध्यम वर्ग तक के परिवार सरकार की इस कवायद से निशुल्क हार्ट ऑपरेशन करा सकेंगे.