करौली: बजरी माफियाओं के खिलाफ ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, की कार्रवाई की मांग

करौली में सिंघानिया की गंभीर नदी के पास मनरेगा योजना के तहत बनाए गए एनीकट को बजरी माफियाओं द्वारा क्षतिग्रस्त कर दिया गया है. 

करौली: बजरी माफियाओं के खिलाफ ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, की कार्रवाई की मांग
अधिकारियों की मिलीभगत के कारण सरकार के लाखों रुपये के कार्य का नुकसान किया जा रहा है.

आशीष, करौली: जिले के टोडाभीम में सिंघानिया की गंभीर नदी के पास मनरेगा के तहत बनाए गए एनीकट को बजरी माफियाओं द्वारा क्षतिग्रस्त करने से ग्रामीणों में रोष है. एनीकट को क्षतिग्रस्त करने के विरोध में ग्रामीणों ने सिंघानिया राजीव गांधी सेवा केंद्र पर प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन कर दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

दरअसल, करौली में सिंघानिया की गंभीर नदी के पास मनरेगा योजना के तहत बनाए गए एनीकट को बजरी माफियाओं द्वारा क्षतिग्रस्त कर दिया गया है. इस संबंध में ग्रामीणों द्वारा विकास अधिकारी टोडाभीम उप जिला कलेक्टर टोडाभीम जिला कलेक्टर करौली को शिकायत की जा चुकी है. बावजूद इसके अभी तक इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं हुई है और दोषी खुलेआम घूम रहे हैं.

ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए बताया कि अधिकारियों की मिलीभगत के कारण सरकार के लाखों रुपये के कार्य का नुकसान किया जा रहा है लेकिन शिकायत के बाद भी अधिकारी इस मामले में मौन हैं और कोई कार्रवाई नहीं कर रहे हैं. इसके चलते ऐसा कार्य करने वाले लोगों के हौसले बुलंद हैं.

ग्रामीणों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जल्द ही इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं की जाती है तो उनकी ओर से बड़ा आंदोलन किया जाएगा. इस दौरान हरिमन पटेल, कपूर पटेल, श्यामलाल, फ़रेबी, गोपाली, सरफू मीना, जगदीश मीना, जगमोहन, राजेश सहित दर्जनों लोग शामिल थे.