राजस्थान: पेयजल संकट झेल रहे लोगों ने मटका फोड़कर किया विरोध प्रदर्शन

करौली में 20 माह से पेयजल संकट झेल रहे बग्गी खाना क्षेत्र के लोगों ने मटका फोड़कर प्रदर्शन किया और पेयजल समस्या समाधान की मांग को लेकर सड़क पर जाम लगा दिया.

राजस्थान: पेयजल संकट झेल रहे लोगों ने मटका फोड़कर किया विरोध प्रदर्शन
वहीं प्रदर्शनकारियों ने समाधान नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है.

जयपुर: प्रदेश की राजधानी में सीएम के निर्देश के बावजूद भी जयपुर में जहरीले पानी की सप्लाई लगातार जारी है. परकोटे में लोगों को काले पानी की सजा मिल रही है. सांगानेरी गेट के नजदीक मिनर्वा सिनेमा हॉल के पास 1 महीने से सीवर का गंदा पानी आ रहा है,ले किन इसके बावजूद भी जलदाय विभाग आंखे मूंदकर बैठा है. पाइनलाइन लीक होने बाद घरों में गंदा और बदबूदार पानी पहुंच रहा है, पर इसके बावजूद भी जेईएन मानसिंह धाकड कोई कार्रवाई नहीं कर रहे.

यहां तक की वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर पानी के टैंकर की सुविधा भी उपलब्ध नहीं करवा रहे. 6 बार लिखित शिकायत भी कर दी गई है,लेकिन पीएचईडी के अधिकारी आंखे मूंदकर बैठे है. वहीं जयपुर की जनता काले पानी की सप्लाई से परेशान है.

वहीं करौली में 20 माह से पेयजल संकट झेल रहे बग्गी खाना क्षेत्र के लोगों ने मटका फोड़कर प्रदर्शन किया और पेयजल समस्या समाधान की मांग को लेकर सड़क पर जाम लगा दिया. जाम की सूचना पर पहुंची करौली कोतवाली व शहर चौकी पुलिस ने करीब 1 घंटे की मशक्कत के बाद जाम खुलवाया. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने जिला प्रशासन पर अनदेखी के आरोप लगाए. 

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि शहर के बग्गी खाना और दिवान का बाग क्षेत्र में पिछले 20 माह से पेयजल किल्लत बनी हुई है. जिसकी कई बार शिकायत के बाद समाधान नही हुआ है. जिसको चलते विद्युत विभाग के सहायक अभियंता कार्यालय के बाहर बग्गी खाना क्षेत्र में सड़क पर खाली बर्तन रखकर जाम लगा दिया और मटकी फोड़ कर प्रदर्शन किया. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने जलदाय विभाग के अभियंताओं पर अभद्र व्यवहार के भी आरोप लगाए. 

जाम की सूचना के बाद मौके पर पहुंची कोतवाली व शहर चौकी पुलिस ने करीब डेढ़ घंटे समझाइश के बाद जाम खुलवाया. जाम खोलने के बाद प्रदर्शनकारी जलदाय विभाग कार्यालय और नगर परिषद आयुक्त कार्यालय पहुंचे. जहां समस्या, समाधान की मांग की. नगर परिषद आयुक्त ने समस्या सुनकर सहायक अभियंता को तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए. प्रदर्शनकारियों ने समाधान नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है.