close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: विश्वेंद्र सिंह ने बीजेपी नेताओं पर साधा निशाना, कहा- यूआईटी की 13 नम्बर स्कीम को किसने बेचा

विश्वेंद्र सिंह ने आरोप लगाने वाले भाजपा नेताओं से कहा है कि भाजपा के पिछले 5 साल में भ्रष्टाचार चरम पर था यह सबको पता है. जहां तक विकास की बात है तो कांग्रेस सरकार निर्धारित तरीके से योजनाबद्ध तरीके से काम कर रही है.

राजस्थान: विश्वेंद्र सिंह ने बीजेपी नेताओं पर साधा निशाना, कहा- यूआईटी की 13 नम्बर स्कीम को किसने बेचा
फाइल फोटो

देवेंद्र सिंह, भरतपुर: भाजपा नेताओं के द्वारा बुधवार को प्रेस वार्ता कर प्रदेश सरकार में जिले के तीन मंत्रियों के आचरण को लेकर की गई टिप्पणी को लेकर मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है. जिसके बाद केबीनेट मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने पलटवार करते हुए भाजपा नेताओं को आड़े हाथ लिया और उनको खुद के गिरेबान में झांकने की सलाह देते हुए अशोभनीय टिप्पणी को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और कहा कि भाजपाई, संसदीय मर्यादा भूल चुके हैं और वह अपनी हार को पचा नहीं पा रहे हैं. मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने कहा कि अपशब्द इस्तेमाल करना बहुत आसान चीज है लेकिन हमारे संस्कार और तहजीब हमको इसकी इजाजत नहीं देते है. भाजपा के नेता रिस्पेक्ट को भी भूल चुके हैं. उन्हें नहीं पता इसे किस तरह कायम रखा जाता है.

मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने आरोप लगाने वाले भाजपा नेताओं से कहा है कि भाजपा के पिछले 5 साल में भ्रष्टाचार चरम पर था यह सबको पता है. जहां तक विकास की बात है तो कांग्रेस सरकार निर्धारित तरीके से योजनाबद्ध तरीके से काम कर रही है. सिंह ने आचरण पर सवाल उठाने को बड़ा ही हायस्पद बताया है. मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने कहा है कि सेक्टर 13 की स्कीम को पूर्व विधायक विजय बंसल बेचकर खा गए. नगर निगम और यूआईटी पर भ्रष्टाचार के लिए बंसल ही जिम्मेदार हैं. नई सरकार व्यवस्था बदल रही है.

केबीनेट मंत्री सिंह ने मंत्रियों को आचरण सुधारने की सलाह देने वाले पूर्व विधायक विजय बंसल को व्यक्तिगत रूप से याद दिलाते हुए कहा है कि बंसल को यह नहीं भूलना चाहिए कि वह किसकी वजह से विधायक बने और मेयर शिव सिंह भोंट को मेयर बनाने में किसकी भूमिका रही. मंत्री सिंह ने कहा कि राजनीति की बात करें तो उनकी धर्मपत्नी दिव्या कुमारी ने उनके लिए घर घर जाकर वोट मांगे तब जाकर वह पहली बार इनेलो की टिकिट पर विधायक बने. मंत्री सिंह ने कहा कि राजनीतिक जीवन हो या सामाजिक जीवन उन्होंने हमेशा भाषा का इस्तेमाल संयम से किया. जो सभी को करना चाहिए. 

गौरतलब है कि भाजपा नेता और पूर्व विधायक विजय बंसल और भाजपा के जिलाध्यक्ष के द्वारा मंत्रियों पर भ्रष्टाचार और आचरण को लेकर सवाल खड़े किए गए थे. जिसके बाद उनपर पटलवार करते हुए पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने भाजपा नेताओं को आड़े हाथ लिया है और कहा है कि वह उनके ऊपर किए गए अहसान को ना भूले. भाजपा नेताओं के द्वारा प्रेसवार्त कर जिले में लाए गए अधिकारियों के द्वारा वसूली करवाने और यूआईटी में हुए भ्रष्टाचार को लेकर सवाल खड़े किए गए थे. जिसमें चिकित्सा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग पर नगर निगम में फर्जी तरीके से सफाई कर्मचारी के प्रमोशन कर इंस्पेक्टर बनाए जाने को लेकर आज भाजपा नेताओं ने निशाना साधा था जिस पर पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह खासे नाराज नजर आए और उन्होंने एक बार पुराने रोल में आते हुए कह दिया कि पूर्व विधायक विजय बंसल को यह चीजे शोभा नहीं देती है. मेयर शिवसिंह भोंट और भाजपा जिलाध्यक्ष को भी आड़े हाथ लेकर कहा कि आज जहां तक पहुंचे है उसमे किसका हाथ रहा है उनकी पत्नी ने उनके लिए वार्डो में जाकर वोट मांगे थे शायद वह इस बात तो भूल गए हैं.