close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिव्यांग दलित महिला से दुष्कर्म का प्रयास और बच्चे की हत्या का मामला जांच में निकला झूठा

उल्लेखनीय है कि नदबई थाना में सोमवार को पीड़ित महिला की ओर से इस संबंध में मामला दर्ज करवाया गया.

दिव्यांग दलित महिला से दुष्कर्म का प्रयास और बच्चे की हत्या का मामला जांच में निकला झूठा
फाइल फोटो

जयपुर: राजस्थान के भरतपुर जिले के नदबई थाना क्षेत्र में ईंट भट्ठा मालिक सहित आठ लोगों के खिलाफ 28 वर्षीय दिव्यांग महिला के साथ कथित दुष्कर्म करने का प्रयास और उसके पुत्र की हत्या का मामला दर्ज किया गया था जिसे जांच में पुलिस ने झूठा पाया. भरतपुर के पुलिस अधीक्षक हैदर अली जैदी ने तथ्यात्मक रिपोर्ट में बताया कि अब तक की जांच व साक्ष्य के आधार पर प्राप्त तथ्यात्मक रिपोर्ट के अनुसार प्रारम्भिक जांच में दिव्यांग दलित महिला से दुष्कर्म का प्रयास और बच्चे की हत्या का मामला झूठा निकला है.

उन्होंने बताया कि पीड़िता और उसका पति मसारी अलवर के रहने वाले हैं और करीब छह माह पूर्व गोगाजी ईंट भट्ठा लुहासा नदबई पर मजदूरी करने आये और वहां बनी झुग्गी झोंपड़ियों में रह रहे हैं. अन्य झुग्गी झोंपड़ियों में कई अन्य मजदूरों के परिवार भी रह रहे है. इन सभी मजदूरों ने भट्टा मालिक से कुछ पैसा एडवांस ले रखा है तथा बाकी पैसा कार्य के हिसाब से भुगतान करने की तय होना अनुसंधान से सामने आया है.

 

उन्होंने बताया कि पड़ोस में रहने वाले मजदूरों ने अपने बयानों में बताया कि पीड़िता के आठ वर्षीय बच्चे सनी की मौत 12 मई को हैजा की बीमारी से हो गई थी. बच्चे के इलाज करने वाले चिकित्सक ने भी इस बात की पुष्टि की कि 12 मई को उन्होंने बालक को डिहाईड्रेशन (उल्टी दस्त) का इलाज दिया. जैदी ने बताया कि अब तक की जांच से परिवादी के साथ आरोपियों द्वारा दुष्कर्म का प्रयास करने एवं उसके बालक सनी की गला दबाकर हत्या किये जाने सम्बन्धी तथ्यों की प्रथम दृष्टया पुष्टि नहीं हुई है. तफ्तीश पूर्ण होने पर ही प्रकरण का निस्तारण किया जायेगा. 

उल्लेखनीय है कि नदबई थाना में सोमवार को पीड़ित महिला की ओर से इस संबंध में मामला दर्ज करवाया गया. दर्ज शिकायत में पीड़िता ने बताया कि 12 मई को जब वह अपने घर में पुत्र के साथ सो रही थी तो आरोपी उसके घर में घुसे और उसके साथ दुष्कर्म करने का प्रयास किया जब बीच बचाव के लिये उसका पुत्र आया तो आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी थी.