सवाईमाधोपुर: बिजली विभाग की लापरवाही नें दो लोगों को जिंदा जला दिया-दर्दनाक हादसा

मानटाउन थाना के दोन्दरी गांव में अल्फाज अपने खेत में चने की फसल की सिंचाई कर रहे थे, तभी खेत के उपर से गुजर रही 11 केबी बिजली  लाईन का तार टूटकर खेत की बाड़ पर गिर गयी और चाचा-भतीजे की मौके पर ही मौत हो गई.

सवाईमाधोपुर: बिजली विभाग की लापरवाही नें दो लोगों को जिंदा जला दिया-दर्दनाक हादसा
चाचा-भतीजे की मौत से परिवार सहित पूरा गांव सदमे में

अरविंद सिंह चौहान,सवाईमाधोपुर: जिले के दोन्दरी गाँव में खेतों में काम कर रहे अचानक चाचा-भतीजे की मौत से परिवार सहित पूरा गांव सदमे में है एक ही परिवार से एक साथ दो लोगों की मौत से पूरा गांव गमगीन हो गया खेती कर परिवार का गुजारा करते थे, लेकिन हादसे ने परिवार के दो चिरागों को असमय छीन लिया एक साथ चाचा-भतीजे की मौत के बाद परिवार में कोहराम मचा हुआ है। परिवार वालों को समझ में नहीं आ रहा हैं, कि अब उसके घर का चूल्हा कैसे जलेगा. मौत के बाद परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है मानटाउन थाना के दोन्दरी गांव में अल्फाज अपने खेत में चने की फसल की सिंचाई कर रहे थे, तभी खेत के उपर से गुजर रही 11 केबी बिजली  लाईन का तार टूटकर खेत की बाड़ पर गिर गया. बिजली तार की चपेट में आने से अल्फाज बुरी तरह से झुलस गया भतीजे को करंट की चपेट में छटपटाता देख चाचा आबिद उसे बचाने को दौड़ा, लेकिन  वो भी करंट की चपेट में आ गया दोनों चाचा-भतीजों की मौके पर ही मौत हो गई हादसे की सूचना के बाद मानटाउन थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों शवों को जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है पुलिस फिलहाल मामले की जांच में जुटी है.
दरअसल राजस्थान में ये कोई पहला मामला नहीं है. बिजली विभाग की लापरवाही से कभी पशु तो कभी इंसान बिजली की चपेट में आकर काल के गाल में समा रहे हैं हाल ही में 14 नवंबर को धौलपुर जिले में राजखेड़ा थाने के गांव नागर खेत में भी हाईटेंशन लाइन की चपेट में आने से दो सगे भाइयों की मौत हो गई थी नागर गांव में किसान विद्याराम के दोनों बेटे 30 वर्षीय बहादुर और 32 वर्षीय कमल सिंह पर काम कर रहे थे खेती के दौरान खेत से गुजर रहे 11000 केवी हाईटेंशन लाइन की चपेट में पहले बहादुर आ गया. करंट की चपेट में बहादुर को तड़पता हुआ देख उसका बड़ा भाई कमल सिंह उसे बचाने पहुंच गया इस दौरान कमल सिंह भी करंट की चपेट में आ गया था, जिससे दोनों भाइयों की मौत हो गई. राजस्थान में लगातार हादसे के बाद भी बिजली विभाग कोई सुध नहीं ले रहा है, शिकायतों के बावजूद बिजली विभाग लापरवाह बना हुआ है.