Karuali के जिला कारागृह में एक कैदी की संदिग्ध अवस्था में मौत, कुछ दिन पहले ही हुई थी गिरफ्तारी

करौली जिला कारागृह में न्यायिक अभिरक्षा में चल रहे एक कैदी की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई. 

Karuali के जिला कारागृह में एक कैदी की संदिग्ध अवस्था में मौत, कुछ दिन पहले ही हुई थी गिरफ्तारी
प्रतीकात्मक तस्वीर

Karuali: राजस्थान के करौली जिला कारागृह में न्यायिक अभिरक्षा में चल रहे एक कैदी की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई. पुलिस ने मृतक का शव जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है. मामले में मृतक के परिजनों ने पुलिस पर मारपीट के आरोप लगाए हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार हिण्डौन निवासी मुकेश पुत्र भूदेव अवस्थी को हिण्डौन नई मंडी थाना पुलिस ने मारपीट और अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम के तहत दर्ज मामले में 23 सितंबर को गिरफ्तार किया था. आरोपी को न्यायालय में पेश करने पर न्यायाधीश ने उसे न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश जारी किए थे, जिसके बाद 24 सितंबर को मुकेश को करौली के जिला कारागृह भेजा गया. रविवार को उसकी जिला कारागृह में संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई.

यह भी पढ़ें-REET Exam: Karauli के परीक्षा केंद्र पर शराब पीकर पहुंचा अभ्यर्थी, किया हंगामा

जिला कारागृह के जेलर राज महेंद्र ने जानकारी देते हुए बताया कि मुकेश की अचानक तबीयत खराब हो गई थी, जिसके बाद उसे अस्पताल ले आ जाया गया. जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया और शव अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया. मुकेश के परिजनों ने पुलिस पर मारपीट के आरोप लगाए हैं.

हिण्डौन नई मंडी थाना अधिकारी दिनेश मीणा ने बताया कि मुकेश के भाई दीपक अवस्थी और उसकी पत्नी के पारिवारिक विवाद का न्यायालय में मुकदमा विचाराधीन है, जिसमें न्यायालय ने दीपक के खिलाफ वारंट जारी किए हुए हैं. पुलिस 23 सितंबर को दीपक को गिरफ्तार करने उसके घर पहुंची तो मुकेश ने पुलिस से मारपीट की और जातिसूचक शब्दों से अपमानित किया. जिसके बाद पुलिस ने दीपक के साथ मुकेश को भी गिरफ्तार कर लिया था. घटना की सूचना पर करौली अतिरिक्त न्यायिक मजिस्ट्रेट विभा आर्य जिला चिकित्सालय पहुंची और घटनाक्रम की जानकारी ली और शव को देखा.

यह भी पढ़ें-REET Exam में बड़ी लापरवाही, निशक्तजन युवती को नहीं मिला परीक्षा के लिए अधिक समय

जिला जेल चिकित्सक रवि कुमार मीणा का कहना है कि मुकेश की तबीयत खराब हुई थी, जिस पर उसे जिला चिकित्सालय के लिए रेफर किया गया. जिला चिकित्सालय में कैदी को देखने वाले चिकित्सक अभिषेक गुप्ता का कहना है कि कैदी को जांच में मृत पाया गया, जिसके बाद उसका शव मोर्चरी में रखवाया है. परिजनों द्वारा किए जा रहे हंगामे के बाद चिकित्सालय में बड़ी संख्या में कोतवाली और पुलिस लाइन से जाब्ता तैनात किया गया है. इसके साथ ही थानाधिकारी रामेश्वर दयाल शहर चौकी प्रभारी बृजराज और अन्य पुलिस अधिकारी भी मौके पर तैनात हैं. वहीं विप्र फाउंडेशन जोन-1डी अध्यक्ष वेद प्रकाश उपाध्याय, कुलदीप पाठक, उत्तम सिंह जादौन भी चिकित्सालय पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया.

Report-Ashish Chaturvedi