close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: OLX के जरिए चोरी की बाइक को बेचने का प्रयास, मामले का हुआ पर्दाफाश

12 जुलाई को चोरी हुई बाइक की फोटो खींचने के बाद चोरों ने उसे ऑनलाइन बेचने के लिए ओएलएक्स पर अपलोड कर उसका मूल्य 35 हजार निर्धारित कर दिया.

राजस्थान: OLX के जरिए चोरी की बाइक को बेचने का प्रयास, मामले का हुआ पर्दाफाश
इस मामले की पुलिस जांच कर रही है. (प्रतीकात्मक फोटो)

हिण्डौन सिटी: अगर आप अपनी जरुरत की सामानों की ऑनलाइन खरीद करते हैं तो आपको भी सावधान और सचेत होने की जरुरत है. ऑनलाइन खरीद करने से पहले हर तरह से अगर जांच-परख नहीं होने की स्थिति में आपको जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है. 

राजस्थान के हिण्डौन सिटी में एक ऐसा ही मामला सामने आया है. जहां शातिर वाहन चोरों ने जयपुर से चुराई गई बाइक को ओएलएक्स पर बेचने के लिये एड डाल दिया. इस दौरान सौदा तय होने से पहले बाइक के खरीददारों को शक हुआ तो वाहन चोर बाइक को छोड़ कर भाग गए. बाद में सूचना मिलने कोतवाली थाना पुलिस वहां पहुंची. जिसके बाद पुलिस ने बाइक को जब्त कर लिया.

चोरी की बाइक का डाला एड
पुलिस के अनुसार, जयपुर के झोटवाड़ा इलाके के कैलाशनगर निवासी अरविन्द आर्य की बाइक 12 जुलाई को घर के सामने से चोरी हो गई. बाइक के टूल बॉक्स में ही उसका ऑरीजनल पंजीयन प्रमाण पत्र रखा हुआ था. बाइक मालिक ने इसकी प्राथमिकी सांगानेर थाने में दर्ज कराई थी. चोरों ने भी 12 जुलाई को ही बाइक की फोटो खींची और उसे ऑनलाइन बेचने के लिए ओएलएक्स पर अपलोड कर उसका मूल्य 35 हजार निर्धारित कर दिया. 

भरतपुर जिले के वैर थाना क्षेत्र के नावर गांव निवासी दीनदयाल शर्मा ने ओएलएक्स बाइक का एड देखा तो उसे सौदा अच्छा लगा. अच्छी कंडीशन की तीन माह पुरानी बाइक 35 हजार में मिल रही थी. जबकि उसकी एक्स शोरूम प्राइस 56 हजार है. दीनदयाल ने एड में दिये हुए मोबाइल नंबर बातचीत शुरू की. 

आरोपियों ने बाइक को देखने के लिए पहले सूरौठ के पास रसेरी मोड़ पर बुलाया. इस दौरान खरीद करने के लिए वर्धमान नगर स्थित दीनदयाल के रिश्तेदार सत्येन्द्र पाराशर के घर सौदा करने करने की बात कही. दो युवक बाइक को लेकर वर्धमान नगर पहुंचे. जहां बातचीत के दौरान शक होने पर दीनदयाल व सत्येन्द्र ने आरोपियों से बिक्रयनामा लिखवाने की बात कही और उन्हें नगरपरिषद के रैन बसेरा में लेकर पहुंच गए. जहां चुपके से खरीददार पक्ष ने पुलिस को इसकी सूचना कर दी. लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले ही आरोपी बाइक को छोड़ कर भाग गए. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बाइक जब्त कर मामले की जांच शुरू कर दी है.