close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर में अब लोगों को मिलेगी वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं

राजस्थान में स्वास्थ्य देखभाल संबंधी खर्च बहुत अधिक है और स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के कुल खर्च का लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा लोग खुद ही वहन करते हैं

जयपुर में अब लोगों को मिलेगी वर्ल्ड क्लास स्वास्थ्य सुविधाएं
शहरों में यात्रा संबंधी और दूसरे तमाम खर्चे भी उन्हें ही वहन करने होते हैं

जयपुर: राजेंद्र और उसुर्ला जोशी समूह ने सोमवार को जयपुर में आरयूजे हॉस्पिटल्स प्राइवेट लिमिटेड के गठन की घोषणा की. यह ग्रुप जयपुर में 150 बेड वाला मल्टी-सुपर-स्पेशियलिटी अस्पताल खोलेगा. ग्रुप के इस अस्पताल में क्रिटिकल केयर, सीटीवीएस, कार्डियोलॉजी, न्यूरोसाइंसेस, ऑन्कोलॉजी, गैस्ट्रोएंटरोलॉजी में सुपर स्पेशिएलिटी के साथ सबसे अच्छी हेल्थकेयर सेवाएं होंगी. साथ ही इसमें नेफ्रोलॉजी, एंडोक्रिनोलॉजी आदि का बैकअप होगा. यह अस्पताल 2 साल के भीतर कार्य करने लगेगा. 

आरयूजे हॉस्पिटल्स प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. नलिन जोशी कहते हैं, 'यह अस्पताल मुख्य रूप से जयपुर के पश्चिम क्षेत्र में सेवाएं प्रदान करेगा, जहां फिलहाल मल्टी सुपर स्पेशियलिटी सेवाओं और देखभाल की कमी है. हम इसे ग्रीन हॉस्पिटल बिल्डिंग की अवधारणा पर भी बना रहे हैं'.

राजस्थान में स्वास्थ्य देखभाल संबंधी खर्च बहुत अधिक है और स्वास्थ्य संबंधी सेवाओं के कुल खर्च का लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा लोग खुद ही वहन करते हैं. बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं की तलाश में लोगों को बड़े शहरों का रास्ता नापना पड़ता है. इन शहरों में यात्रा संबंधी और दूसरे तमाम खर्चे भी उन्हें ही वहन करने होते हैं.

भारत में आधुनिक कौशल विकास के जनक आरयूजे ग्रुप के संस्थापक राजेंद्र कुमार जोशी ने कहा, 'हमारा नया मल्टी-सुपर-स्पेशियलिटी अस्पताल जयपुर वासियों की स्वास्थ्य देखभाल के लिए भारत के बड़े शहरों की यात्रा करने की आवश्यकता को पूरा करेगा.' 

जोशी ने बताया कि 'हम यह सुनिश्चित करने का प्रयास करेंगे कि एक व्यक्ति जो चिकित्सा संकट में अस्पताल में लाया जाता है, उसे विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी. इसके लिए दुनियाभर के सर्वश्रेष्ठ उपकरण और बेहतरीन डॉक्टरों की सेवाएं अस्पताल में उपलब्ध होंगी. साथ ही स्विस विशेषज्ञों की टीम भी भारतीय विशेषज्ञों के साथ मिलकर इस अस्पताल में काम करेगी'.

(इनपुट-आईएएनएस)