भीलवाड़ा: किडनैपिंग केस में हफ्तावसूली गैंग के 4 सदस्यों को कोर्ट ने भेजा जेल

पुलिस ने चारों आरोपियों को आज अतिरिक्त सिविल न्यायाधीश व न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या एक में पेश किया, जहा से सभी आरोपियों को जेल भेजने के आदेश दिए गए .

भीलवाड़ा: किडनैपिंग केस में हफ्तावसूली गैंग के 4 सदस्यों को कोर्ट ने भेजा जेल
इस मामले में अन्य अभियुक्तों की तलाश जारी है.

दिलशाद खान/भीलवाड़ा: राजस्थान के मंगरोप थाना पुलिस ने एनएच 79 पर एक फैक्ट्री के सहायक महाप्रबंधक व चालक को अगवा कर लूटपाट करने के मामले में हफ्तावसूली गैंग के चार सदस्यों न्यायालय में पेश किया. जहां से सभी अभियुक्तों को जेल भेज दिया गया.

मंगरोप थाना प्रभारी महावीर सिंह ने बताया कि हमीरगढ़ स्थित 'ए' इंफ्रास्टक्र्चर लिमिटेड के सहायक महाप्रबंधक महेशकुमार सर्राफ 7 जनवरी को अपने चालक के साथ फैक्ट्री से बोलेरो में अपने घर शास्त्रीनगर जा रहे थे. इस बीच, अनंत प्रोसेस के पास 5 अज्ञात नकाबपोश लड़के दो बाइक से आए और बोलेरो के आगे बाइक लगा दी. इसके बाद बाइक से उतरे 3 युवक, सर्राफ व चालक को डरा-धमका कर बोलेरो में बैठ गए. 

इसके बाद एक ने बोलेरो चलाई, जबकि दो अन्य युवक बाइक से बोलेरो के पीछे-पीछे चलने लगे. सराफ व चालक को अगवा कर ये लोग सुवाणा की ओर ले गये. जहां रास्ते में सराफ की जेब से इन बदमाशों ने एक मोबाइल, 5 हजार रुपए, एटीएम व अंगूठी लूट ली. 

इसके बाद सर्राफ को धमका कर उनसे एटीएम के कोड नंबर पूछ लिए. इसके बाद एटीएम से बदमाशों ने 20 हजार रुपए निकाल लिए. इसके बाद सर्राफ व चालक को दांथल के पास कच्चे रास्ते पर छोड़ दिया. बदमाशों ने सराफ को धमकी दी कि हर माह 20 हजार रुपए हफ्ता देना, नहीं तो जान से खत्म कर देंगे ओर परिवार को उठा लेंगे. एक बदमाश ने सराफ के फोन पर खाता संख्या बता कर धमकी देते हुए कहा कि इस खाते में 20 हजार डलवाओ. 

जिसके बाद डर के मारे महेश सर्राफ ने 20 हजार रुपए डलवा दिए. यह राशि आरोपितों ने एटीएम से निकाल ली. सर्राफ ने इस संबंध में मंगरोप थाने में मुकदमा दर्ज करवाया. मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक हरेंद्र महावर ने मंगरोप थाना प्रभारी महावीर प्रसाद के नेतृत्व में टीम गठित की. इस टीम ने अथक प्रयास कर रविवार को वारदात का राजफाश करते हुए मंगरोप निवासी श्रीराम उर्फ रवि उर्फ किंगसा पुत्र सुरेशचंद्र दमामी, सत्तू उर्फ संतु उर्फ विशाल पुत्र नाना उर्फ नानूराम उर्फ भैंरूलाल जाट निवासी रूपाहेलीखेड़ा, भगवती लाल पुत्र मांगीलाल प्रजापत श्रीराम नगर, मंडपिया स्टेशन व श्रीराम नगर, मंडपिया स्टेशन निवासी उपेंद्र सिंह पुत्र सोमसिंह पुत्र रघुवीर सिंह राजपूत को गिरफ्तार किया गया था. 

पुलिस ने चारों आरोपियों को आज अतिरिक्त सिविल न्यायाधीश व न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या एक में पेश किया, जहा से सभी आरोपियों को जेल भेजने के आदेश दिए गए . सिंह ने बताया कि इस मामले में मनीष पुत्र भैंरूलाल जाट सोला का खेड़ा व नारायण पुत्र काना जाट निवासी भोली की तलाश जारी है.