ACB ने 17 जगहों पर एक साथ मारा छापा, अब तक 1 करोड़ 20 लाख जब्त

एसीबी की टीम ने परिवहन विभाग के घूसखोर गिरोह का पर्दाफाश किया है. 

ACB ने 17 जगहों पर एक साथ मारा छापा, अब तक 1 करोड़ 20 लाख जब्त
मनीष मिश्रा के पास से एसीबी को 1.20 लाख की नगदी मिली.

जयपुर: राजस्थान में एसीबी की टीम ने परिवहन विभाग के घूसखोर गिरोह का पर्दाफाश किया है. एसीबी ने जब इस मामले में कार्रवाई शुरू की तो बड़े नेक्सस का खुलासा हुआ, जो वाहन चालकों को धमकी देकर दलालों के जरिए बंधी वसूल कर रहे थे. 

जानकारी के मुताबिक एसीबी की टीम ने सबसे पहले रविवार को परिवहन निरीक्षक उदयवीर सिंह को दलाल मनीष मिश्रा से चालीस हजार की रिश्वत लेते दबोचा. मनीष मिश्रा के पास से एसीबी को 1.20  लाख की नगदी मिली, जिसे परिवहन विभाग के ही दूसरे अधिकारियों को दिया जाना था. इसके बाद एसीबी ने 18 टीम बनाकर ताबड़तोड़ कार्रवाई शुरू की. एसीबी ने मनीष से पूछताछ के आधार पर परिवहन विभाग के 7 अधिकारियों और 9 दलालों को निरूद्ध कर उनके ठिकानों पर सर्च अभियान चलाया.

परिवहन विभाग के अधिकारियों के घर से एसीबी को 1.20 करोड़ की नगदी, प्रोपर्टी के कागजात, बंधी की पर्चियां, हिसाब-किताब की डायरियां बरामद हुई है. एसीबी ने अभी तक शाहजहांपुर डीटीओ गजेंद्र सिंह, चौमूं डीटीओ विनय बंसल, डीटीओ मुख्यालय महेश शर्मा, परिवहन निरीक्षक शिवचरण मीणा, आलोक बुढ़ानिया, नवीन जैन, रतनलाल को निरूद्ध किया है. 

दलाल जसवंत यादव, तनुश्री लॉजिस्टिक के विष्णु कुमार, ममता पत्नी योगेश कुमार, रणवीर, पवन उर्फ पहलवानन, विष्णु कौशिक को भी निरूद्ध किया गया है. एसीबी अभी इन लोगों से पूछताछ कर रही है. उम्मीद जताई जा रही है कि बड़े घूसखोरी के रैकेट से ये पर्दा उठेगा. एसीबी सूत्रों की माने तो बंधी की ये रकम उच्चाधिकारियों तक जाती थी.