close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीकानेर: भीषण गर्मी के कारण कलेक्टर ने दिया पशुओं को दोपहर में कार्यमुक्त रखने का आदेश

पशुपालन विभाग को आदेश जारी कर इसकी अनुपालना सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए गए हैं. गर्मी के मौसम में तापमान की प्रतिकूल परिस्थितियां बनी हुई हैं. 

बीकानेर: भीषण गर्मी के कारण कलेक्टर ने दिया पशुओं को दोपहर में कार्यमुक्त रखने का आदेश
प्रतीकात्मक तस्वीर

बीकानेर: रेगिस्तान में गर्मी का सितम जारी है. रेगिस्तान भट्टी की तरह तप रहा है. गर्मी ने लोगों का घरों से निकलना मुश्किल कर दिया है तो वही इंसान के साथ साथ जानवर भी परेशान हैं. जहां बीकानेर के जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने गर्मी के प्रकोप के मद्देनजर भारवहन करने वाले पशुओं को दोपहर 12 से 3 बजे तक कार्य से मुक्त रखने के निर्देश दिए हैं.

पशुपालन विभाग को आदेश जारी कर इसकी अनुपालना सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिए गए हैं. गर्मी के मौसम में तापमान की प्रतिकूल परिस्थितियां बनी हुई हैं. प्रतिवर्ष प्रतिकूल परिस्थितियों में काम करने के कारण हजारों पशु काल का ग्रास बन जाते हैं. पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 के तहत पशुओं को क्रूरता से बचाने का प्रावधान है, पशुओं के साथ क्रूर व्यवहार करना एक गंभीर अपराध माना जाएगा. 

अगले 48 से 72 घंटों तक अभी इस भीषण गर्मी और उमस से राहत मिलने की संभावना नहीं है. सूर्य की तेज तपीश और भीषण गर्मी के चलते इस साल प्रदेशवासियों के पसीने छूट गए हैं. बीते तीन सप्ताह से प्रदेश में दिन का तापमान करीब 44 से 45 डिग्री के बीच में बना हुआ है. जो औसत से करीब 4 से 5 डिग्री तक ज्यादा है. साथ ही रात का तापमान भी औसत से करीब 3 से 4 डिग्री बढ़ोतरी के साथ 32 से 33 डिग्री पर बना हुआ है.