India-Pak Border पर पकड़ी गई 300 करोड़ की हेरोइन के मामले में शुरू हुई NCB पूछताछ!

बुधवार की रात बीएसएफ ने बंधली पोस्ट पर करीब तीन सौ करोड़ रुपए की हेरोइन की तस्करी रोकी थी. 

India-Pak Border पर पकड़ी गई 300 करोड़ की हेरोइन के मामले में शुरू हुई NCB पूछताछ!
बुधवार की रात बीएसएफ ने बंधली पोस्ट पर करीब तीन सौ करोड़ रुपए की हेरोइन की तस्करी रोकी थी.

Bikaner: भारत-पाकिस्तान (India-Pakistan) के अंतरराष्ट्रीय सीमावर्ती क्षेत्र खाजूवाला में दो दिन पहले 300 करोड़ रुपये की पकड़ी गई हेरोइन के मामले में अब NCB ने भी पूछताछ करनी शुरू कर दी है. 

यह भी पढे़ं- पाकिस्तानी तस्करों पर BSF की अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, इतनी बड़ी मात्रा में हेरोइन बरामद

NCB के डिप्टी डायरेक्टर जनरल ज्ञानेश्वर सिंह (Gyaneshwar Singh) आज बीकानेर के BSF मुख्यालय पहुंचे, जहां तस्करों को JIC से लेकर पूछताछ की और सबूत खंगाले. 

यह भी पढे़ं- Sri Ganganagar की पंजाब से लगती सीमा पर नहीं स्थापित की गई Covid चेक पोस्ट

BSF के राजस्थान फ्रंटियर (Rajasthan Frontier) पर अब तक की सबसे बड़ी तस्करी का भंडाफोड़ होने के बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो NCB ने हेरोइन तस्करी को लेकर अंतिम व्यक्ति तक पहुंचने की तैयारी शुरू कर दी है. नारको टेरेरिज्म को हवा दे रही इस तस्करी के खिलाफ अब न सिर्फ डोजियर तैयार हो रहा है बल्कि इंटरपोल की मदद भी ली जा सकती है. 

पंजाब से हो रही सर्वाधिक तस्करी 
NCB के डिप्टी डायरेक्टर जनरल ज्ञानेश्वर सिंह ने ज़ी मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि पंजाब से सर्वाधिक तस्करी हो रही है. अब तक पाकिस्तान से सटी सीमा में पंजाब से 270 से 300 किलो के आसपास, जम्मू फ्रंटियर से 61 किलो के आसपास हेरोइन बरामद हुई है. इस कार्रवाई से पहले तक राजस्थान फ्रंटियर से महज 8 किलो हेरोइन जब्त हुई थी. पंजाब में यह घटनाएं ज्यादा होती हैं. 

पाकिस्तान रेंजर को बंधली पोस्ट पर बुलाया
वहीं, दूसरी ओर BSF अधिकारी ने एक नोट जारी करते हुए पाकिस्तान रेंजर को बंधली पोस्ट पर बुलाया है. उनसे पूछा जाएगा कि तस्कर कौन थे और कहां से आए थे? बीएसएफ डीआईजी पुष्पेंद्र सिंह (Push) ने बताया कि फिलहाल रेंजर्स हमें सहयोग कर रहे हैं. जिस जगह ये तस्करी हो रही थी, उससे महज पचास मीटर की दूरी पर पाकिस्तान का ओपी टॉवर था. भारतीय सीमा पर तस्करी वाले स्थान पर लगातार बढ़ रही हलचल से पाकिस्तानी रेंजर्स में भी हड़बड़ी नजर आ रही है. किसी आतंकवादी संगठन और पाकिस्तानी रेंजर्स के इस कार्रवाई में शामिल होने के सवाल पर सिंह ने कहा कि हम निश्चित रूप से ऐसे हैंड्ल्स को एक्सप्लोर करेंगे, जो इसके पीछे जुड़े हुए हैं. जब भी इस तरह के केसेज सामने आते हैं तो यह लिंक जरूर देखे जाते हैं. अगर जरूरत पड़ी तो नेशनल इनवेस्टिगेशन ब्यूरो NIA को इस मामले की जांच की जायेगी. अभी हम लिंक को एक से दूसरे से जोड़ने में जुटे हुए हैं. अभी कुछ कहना उचित नहीं होगा मगर यह सही है कि बॉर्डर पार से सामान आ रहा है, उसे कोई न कोई वहां से भेज रहा है. ऐसे लोगों के बारे में हम पता करेंगे. 

क्या हैं डोजियर बनाने का कारण 
डोजियर बनाने का कारण यह है कि कुछ एक स्मगलर है, जो अक्सर इस तरह से ड्रग्स भारत को पुश कर रहे हैं. ऐसे माफिया के खिलाफ इंटरपोल की मदद से कार्रवाई की जायेगी. गौरतलब है कि बुधवार की रात बीएसएफ ने बंधली पोस्ट पर करीब तीन सौ करोड़ रुपए की हेरोइन की तस्करी रोकी थी. इस दौरान पंजाब के दो युवकों को गिरफ्तार किया गया था. इन दोनों से जांइट इंट्रोगेशन हुआ है, जिसमें उन्होंने स्वीकार किया कि वो हेरोइन लेने के लिए ही बॉर्डर पर आए थे. अब इन युवकों से सभी दल पूछताछ करके अन्य सुराग तलाशे जा रहे हैं.

Reporter- Rounak Vyas