close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

झुंझुनूं: बैंड प्रतियोगिता में बिरला बालिका विद्यापीठ की टीम का रहा दबदबा

तीन दिन तक चली इस प्रतियोगिता में करीब 500 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया और एक से बढ़कर एक मिलिट्री म्यूजिक पेश कर अपनी छाप छोड़ी.

झुंझुनूं: बैंड प्रतियोगिता में बिरला बालिका विद्यापीठ की टीम का रहा दबदबा

संदीप केडिया, पिलानी: झुंझुनूं(Jhunjhunu) जिले के पिलानी(Pilani) कस्बे में देश की टॉप 13 स्कूलों के विद्यार्थी जुटे. दरअसल यहां पर आईपीएससी की ओर से आयोजित अखिल भारतीय बैंड कंपटीशन(All India Band Competition) का आयोजन किया गया. जिसका जिम्मा इस बार बिरला बालिका विद्यापीठ(Birla Balika Vidyapeeth) को मिला था. तीन दिन तक चली इस प्रतियोगिता में करीब 500 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया और एक से बढ़कर एक मिलिट्री म्यूजिक पेश कर अपनी छाप छोड़ी. 

प्रतियोगिता के विभिन्न चरणों में मेजबान बिरला बालिका विद्यापीठ का दबदबा रहा. लेकिन कपूरथला से आई सैनिक स्कूल की टीम ने भी अपना बेहतरीन प्रदर्शन कर ओवरऑल ट्राफी में विद्यापीठ के साथ संयुक्त स्थान प्राप्त किया. समापन कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बीईटी निदेशक मेजर जनरल एसएस नायर थे. उन्होंने बताया कि काफी दिनों के बाद उन्हें एक बेहतरीन मिलट्री म्यूजिक सुनने को मिला. 

उन्होंने बताया कि 21वीं सदी में जिस स्कील की बात हम लोग करते है. वो बिना टीम भावना के संभव नहीं है. इसलिए हमें टीम भावना के साथ काम करना होगा. उन्होंने कहा कि तीन दिनों में संभागियों ने एक भी कमी नहीं की. जिससे वे इंप्रेस हुए है. बिरला बालिका विद्यापीठ की प्रिंसीपल डॉ. एम. कस्तूरी ने बताया कि आईपीएससी में देश की टॉप स्कूलें शामिल है. इस बार प्रतियोगिता में कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक की टीमें आई है. वहीं उनके अनुशासन ने हर किसी को प्रभावित किया है. 

आपको बता दें कि बिरला बालिका विद्यापीठ की बैंड टीम हर साल गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर होने वाली परेड में भी हिस्सा लेती है.  इस मौके पर प्रतियोगिता के पर्यवेक्षक कर्नल शौकत, चिड़ावा डीएसपी आरपी शर्मा, एनसीसी ऑफिसर लेफ्टिनेंट सविता शर्मा, दिव्या शेखावत, बैंड मास्टर राजकुमार, सुधीर गौतम, बीईटी प्रिंसीपल्स पवन वशिष्ठ, अलोकेश सैन सहित अन्य मौजूद थे.

इन स्कूलों ने लिया प्रतियोगिता में हिस्सा
बिरला बालिका विद्यापीठ की एकेडमिक प्रभारी अनिता मिश्रा तथा बर्सर सीमा सिन्हा ने बताया कि इस प्रतियोगिता में पाइन ग्रोव स्कूल हिमाचल, सैनिक स्कूल अमरावती नगर तमिलनाडू, सैनिक स्कूल कपुरथला पंजाब, सैनिक स्कूल घोड़ाखाल उत्तराखंड, मान स्कूल दिल्ली, एलके सिंघानिया गोटन राजसथान, सैनिक स्कूल नगरोटा जम्मू, राजकुमार कॉलेज राजकोट गुजरात, विद्यादेवी जिंदल स्कूल हिसार हरियाणा, बिरला पब्लिक स्कूल पिलानी तथा बिरला बालिका विद्यापीठ पिलानी की स्कूलों ने हिस्सा लिया. 

इस आधार पर किया गया मूल्यांकन
प्रतियोगिता में विभिन्न चरणों में कई प्रतियोगिता हुई. जिसके अंतर्गत दल का मूल्यांकन, वाद्य यंत्रों, विशेष धुन, देशभक्ति, पाश्चात्य, स्लो मार्च, फास्ट मार्च, मार्च पास्ट, बैंड प्रदर्शन, विधिक आकृतियों का निर्माण व दल नायक की भूमिका आदि बिंदुओं के आधार पर मूल्यांकन किया गया.

ये रहे प्रतियोगिताओं के परिणाम
प्रतियोगिताओं के परिणाम में बिरला बालिका विद्यापीठ पिलानी विजेता तथा पाइन ग्रोव स्कूल हिमाचल रनर अप रही. ब्रास बैंड प्रतियोगिता में बिरला बालिका विद्यापीठ और सैनिक स्कूल कपूरथला की टीम संयुक्त विजेता रही. वहीं सैनिक स्कूल घोड़ाखाल रनर अप रही, सैकंड रनर अप बिरला पब्लिक स्कूल पिलानी रही. इसी तरह पाइप बैंड प्रतियोगिता में सैनिक स्कूल अमरावती नगर व बिरला बालिका विद्यापीठ ने संयुक्त रूप से चल वैजयंती जीती. जबकि बिरला बालिका विद्यापीठ पिलानी व एलके सिंघानिया गोटन राजस्थान रनर अप रहे. विविध प्रतिस्पद्र्धाओं के आधार पर परिणामों की बात करें तो बिरला बालिका विद्यापीठ पिलानी बैंड श्रेष्ठतम देशभक्ति गीत में व बेस्ट इको सैनिक स्कूल कपूरथला, बेस्ट ड्रम कॉल, बेस्ट बैंड लीडर व बेस्ट मेस वर्क सैनिक स्कूल अमरावती रहे.