अजमेर: लॉकडाउन के दौरान गरीबों को खाना दे रही BJP,पहले दिन बांटे 2200 पैकेट

 लॉकडाउन के दौरान बीजेपी ने परेशान हो रहे मजदूर गरीब असहाय लोगों को पहले दिन 2200 पैकेट भोजन के वितरित किए गए.

अजमेर: लॉकडाउन के दौरान गरीबों को खाना दे रही BJP,पहले दिन बांटे 2200 पैकेट
जनता रसोई को लेकर BJP जनप्रतिनिधियों के साथ ही भामाशाह से अपील कर रही है.

अशोक भाटी/अजमेर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद आह्वान पर भारतीय जनता पार्टी द्वारा वार्ड स्तर पर जनता रसोई के माध्यम से भोजन वितरण किया जा रहा है. लॉकडाउन के दौरान परेशान हो रहे मजदूर गरीब असहाय लोगों को पहले दिन 2200 पैकेट भोजन के वितरित किए गए. इस दौरान अजमेर उत्तर के विधायक वासुदेव देवनानी ने सभी को यह भोजन के पैकेट वितरित किए.

देश और दुनिया के लिए महामारी बना कोरोना वायरस लगातार अपने पांव पसार रहा है. इसी घातक हो रहे वायरस को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने देश में लॉक डाउन किया है. इससे पहले ही राजस्थान ने हालातों को परखते हुए लॉक डाउन किया जा चुका था. इस कारण राज्य की कई फैक्ट्रियां बंद कर दी गई. कई लोग घर बैठने को मजबूर हो गए. अजमेर में भी हजारों की संख्या में मजदूरों की संख्या इस आपात हालत में घर बैठने को मजबूर है. जिनके पास खाने की समस्या उत्पन्न हो रही है. इस स्थिति को ध्यान में रखते हुए भारतीय जनता पार्टी की ओर से जनता रसोई का आयोजन किया गया. जिसके माध्यम से वार्ड वाइज भोजन पैकेट वितरित किए जा रहे हैं. वार्ड 60 में विधायक वासुदेव देवनानी पार्षद चंद्रेश सांखला पार्षद नीरज जैन की मौजूदगी में गरीब असहाय लोगों को भोजन वितरित किया गया.

जनता रसोई को लेकर भारतीय जनता पार्टी जनप्रतिनिधियों के साथ ही भामाशाह से अपील कर रही है कि वह गरीब असहाय व अन्य लोगों की मदद करने के लिए आगे आएं. जिससे कि उन्हें समय पर भोजन सामग्री उपलब्ध हो सके. पार्षद नीरज जैन ने बताया कि इस अभियान में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ ही आम जनता की बड़ी भूमिका है जो कि एक स्थान पर भोजन सामग्री बनाकर अलग-अलग वार्डो में वितरित कर रही है. इस हालत को देखते हुए आगामी दिनों में 10,000 भोजन पैकेट रोजाना बनाकर वितरित करने का लक्ष्य रखा गया है. जिसके लिए आम जनता भामाशाह व जनप्रतिनिधि अपनी भूमिका अदा करते हुए सामग्री व धन उपलब्ध करा रहे हैं.

कोरोना वायरस के कारण देश में भयावह स्थिति पैदा हो रही है, जिसके चलते सभी लोगों को घर पर रहने के निर्देश दिए गए हैं. ऐसे में हजारों लोगों के लिए खाने की समस्या उत्पन्न हुई. हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद सही समय पर भोजन उपलब्ध कराने की तैयारियां की जा रही है