CM अशोक गहलोत पर नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ का हमला, दिया यह बड़ा बयान

राठौड़ ने कहा कि सरकार गायब है. जनता त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रही है. अपराध बेलगाम हैं. 

CM अशोक गहलोत पर नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ का हमला, दिया यह बड़ा बयान
राठौड़ ने कहा कि सरकार गायब है. जनता त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रही है. अपराध बेलगाम हैं.

नरेंद्र राठौड़, चूरू: जिला मुख्यालय पर आज उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने अपने निवास पर प्रेस वार्ता कर मुख्यमंत्री द्वारा जैसलमेर में दिए गए बयान का पलटवार किया है. 

इस मौके पर प्रतिपक्ष के उपनेता राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि राजस्थान में सरकार होटल में बाड़ाबंदी के 2 चरणों में एक महीना पूरा कर रही है. मुख्यमंत्री जी का जैसलमेर जाकर यह बयान देना कि उन्होंने अपने विधायकों को पैरामाउंट जयपुर से जैसलमेर इसलिए शिफ्ट किया है कि वहां उनको धमकियां मिल रही थीं. वह मानसिक रूप से प्रताड़ित थे. मैं समझता हूं कि यह बयान यह सिद्ध कर रहा है कि राजस्थान में आमजन किस प्रकार की कानून व्यवस्था से बुरे दौर से गुजर रहा होगा? मानसिक रूप से उनको कौन प्रताड़ित कर रहा है? मुख्यमंत्री जी को उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवानी चाहिए.

मुख्यमंत्री जी का यह कहना विधानसभा के सत्र के होने के साथ ही विधायकों का मोल-भाव आसमान छू रहा है. यह न केवल चुने गए विधायकों को बल्कि विधानसभा और लोकतंत्र का अपमान है. लगातार अंतर्विरोध में घिरी हुई सरकार अदृश्य हो गई. राजस्थान में वैश्विक महामारी कोकोना 42 हजार से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. 670 से ज्यादा की मृत्यु हो गई. टिड्डी दल बार-बार हमला कर रहा है. सूखे की ओर राजस्थान बढ़ रहा है. 

जनता कर रही त्राहिमाम-त्राहिमाम
विजिलेंस के नाम पर किसानों को आम उपभोक्ताओं को परेशान किया जाता है. अदृश्य हुई सरकार से आम आदमी दुखी है. मौका आने पर बदला लेगा. डेढ़ महीना आलीशान होटल में गुजारने के बाद सत्ता से जुड़े हुए विधायक अपने अपने निर्वाचन क्षेत्र में जाएंगे. उनका स्वागत कैसा होगा? इसकी कल्पना वह विधायक उसी पांच सितारा होटल में बैठे हुए कर रहे होंगे, इसीलिए वह मानसिक रूप से वेदना में होंगे.

इसलिए वे स्वयं ही मानसिक प्रताड़ित हैं या उन्हें मानसिक प्रताड़ना इन्हीं कैंपों के माध्यम से सत्ता बचाने के लिए मुख्यमंत्री जी के सहयोगी दे रहे हैं, जिसका आरोप दूसरों पर लगा रहे हैं. मैं मुख्यमंत्री जी के बयान की निंदा करता हूं और अदृश्य हुई सरकार से 7 करोड़ लोग राजस्थान के दुखी हैं. समय आने पर वह इनको पूरा हिसाब चुका देंगे. उन्होंने कहा कि जिस प्रकार के अपराध अभी बेलगाम हो रहे हैं. ग्रामीण क्षेत्रों में एक भी विकास का काम नहीं है. सड़कें बदहाल हैं.

दिनों-दिन बढ़ रहे हैं अपराध 
राठौड़ ने कहा कि सरकार गायब है. जनता त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रही है. अपराध बेलगाम हैं. इन सबके बीच में एक काम बखूबी से हो रहा है. विजिलेंस के नाम पर सरकार ने सप्ताह में 2 दिन विजिलेंस डे घोषित किए हैं और किसानों को और आम उपभोक्ता को परेशान किया जा रहा है.

प्रतिपक्ष के उपनेता राजा राठौड़ ने कहा कि अपराध दिनों-दिन बढ़ रहे हैं. गैंग रेप हो रहे हैं. पीड़िता आत्महत्या कर रही है. आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. उनके लिए एसओजी बनी है. हत्या पर हत्या हो रही है. अजमेर में सरेआम सड़क पर हत्या कर दी गई. एक नौजवान के हत्यारे पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. ऐसे में पूरी पुलिस एसओजी सिर्फ विधायकों की धरपकड़ में लगी है. यह सत्ता का संघर्ष दो ध्रुवों में बंटी कांग्रेस खेमे के बीच में है. 

दो बैलों की कथा सा है हाल
मैंने पहले भी राज्यपाल के अभिभाषण बात करते हुए सदन में कहा था कि दो बैलों का जोड़ा, जो एक-दूसरे के विपरीत दिशा के अंदर जोर लगा रहे हैं. यह जरूर टूटेगा. आज वह टूटा हुआ दिख रहा है और मैं समझता हूं कि एक दूसरे को अपमानित करने की राजनीति मुख्यमंत्री कर रहे हैं. मैंने डेढ़ साल तक अपने उप मुख्यमंत्री से संवाद नहीं रखा. इस बात का द्योतक है. इस पूरे कांग्रेस परिवार की अगुवाई करने वाले मुखिया अपने कुनबे को बांधकर रखने नहीं सके. अब तोहमत कभी हमारे भारत के गृहमंत्री पर लगाते हैं, कभी प्रदेशाध्यक्ष पर लगाते हैं. यह तो टूटन उनकी खुद की है.