बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता ने स्वीकारी विधायकों की बाड़ेबंदी की बात, दिया यह बड़ा बयान

आरोप है कि कांग्रेस सरकार बीजेपी के विधायकों को डरा धमका कर प्रलोभन दे रही है. 

बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता ने स्वीकारी विधायकों की बाड़ेबंदी की बात, दिया यह बड़ा बयान
प्रदेश में विधायकों की बाड़ेबंदी का सियासी ड्रामा चल रहा है.

प्रदीप सोनी, चौमूं: प्रदेश में विधायकों की बाड़ेबंदी का सियासी ड्रामा चल रहा है. एक तरफ अशोक गहलोत खेमे के विधायकों को बाड़ेबंदी में रखा गया है तो दूसरी तरफ सचिन पायलट के खेमे के विधायक हरियाणा की रिसॉर्ट में हैं.

अब बीजेपी ने भी अपने विधायकों की बाड़ेबंदी करना शुरू कर दिया है. इसको लेकर बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने आधिकारिक तौर पर बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि कांग्रेस सरकार हमारे विधायकों को डरा धमका रही है. साथ ही प्रलोभन दे रही है. इसी को लेकर हमारे विधायकों को प्रशिक्षित किया जाना है और इसको लेकर सभी विधायकों को एकत्र किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस के बाद BJP को सता रहा बाड़ेबंदी का डर, गुजरात शिफ्ट किए सिरोही-जालोर के MLA

यानी की यह साफ हो गया है कि बीजेपी ने भी विधायकों की बाड़ीबंदी करना शुरू कर दी है. विधायक रामलाल शर्मा ने विधायकों की फोन टैपिंग की सूची सोशल मीडिया पर वायरल होने के मामले में कहा गहलोत सरकार सत्ता का दुरुपयोग कर  विधायकों की निजता का हनन कर रही है. कांग्रेस सरकार ने पहले एसओजी का दुरुपयोग किया लेकिन बाद में विधायक कोर्ट के चले गए, कोर्ट के दखल के बाद एसओजी को धाराएं उठानी पड़ी और विधायकों को रिहा करना पड़ा.

यह भी पढ़ें- BJP प्रदेश प्रवक्ता ने कांग्रेस पर बोला हमला, कहा- हमारे विधायकों को दे रही प्रलोभन

कांग्रेस सरकार बीजेपी के विधायकों को डरा धमका कर प्रलोभन दे रही है. इस  सावधानी को देखते हुये बीजेपी भी अब अपने विधायकों को एक जगह एकत्र कर रही है. शर्मा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर हमला बोलते हुए कहा कि मुख्यमंत्री की जादूगरी जनता के विश्वास पर तो चल नहीं रही है. 

मुट्ठी भर अपने चंद लोगों के बीच अपनी जादूगरी साबित करना चाहते हैं. सरकार के पास बहुमत हो या न हो, यह एक अलग बात है लेकिन आने वाले समय में सरकार को जनता मुंहतोड़ जवाब देने के लिए जरूर तैयार है. सियासी घटनाक्रम को देखते हुए बीजेपी के विधायकों को प्रशिक्षित करना बेहद जरूरी है.