बीजेपी का हल्लाबोल : मोदी को चौकीदार चोर कहने वाले राहुल के खिलाफ खोला मोर्चा कहां जनता से मांगनी होगी माफी

बीजेपी ने राहुल गांधी और कांग्रेस के खिलाफ शनिवार को देशव्यापी प्रदर्शन किया.देश की जनता से राहुल गांधी द्वारा माफी मांगे जाने की मांग को लेकर हुए इस प्रदर्शन के दौरान बीजेपी ने चौकीदार को प्योर बताया.

बीजेपी का हल्लाबोल : मोदी को चौकीदार चोर कहने वाले राहुल के खिलाफ खोला मोर्चा कहां जनता से मांगनी होगी माफी
राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट की क्लीन चिट के बाद बीजेपी हुई हमलावर

जयपुर:राफेल मामले में सुप्रीम कोर्ट की क्लीन चिट के बाद बीजेपी अब एक बार फिर से हमलावर हो गई है.बीजेपी ने राहुल गांधी और कांग्रेस के खिलाफ शनिवार को देशव्यापी प्रदर्शन किया.देश की जनता से राहुल गांधी द्वारा माफी मांगे जाने की मांग को लेकर हुए इस प्रदर्शन के दौरान बीजेपी ने चौकीदार को प्योर बताया.राफेल डील मामले को लेकर कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव के दौरान बीजेपी को खूब कोसा ,राहुल गांधी ने चुनावी सभाओं के दौरान तकरीबन हर मंच से चौकीदार चोर है का नारा बुलंद किया लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने राफेल डील मामले पर पुनर्विचार याचिका को खारिज किया तो बीजेपी की जान में जान लौटी. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में राहुल गांधी की माफी को भी स्वीकार कर लिया तो बीजेपी को इससे नया मुद्दा मिल गया कोर्ट के बाद अब बीजेपी ने जनता के बीच में राहुल गांधी की तरफ से माफी मांगे जाने की मांग उठा दी है इस मांग को लेकर बीजेपी ने शनिवार को देश के कई हिस्सों में प्रदर्शन किया
बीजेपी नेता और पूर्व मंत्री कालीचरण सराफ ने कहा कि अगर राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट में इस मामले पर माफी मांग चुके हैं तो उन्हें देश की जनता के सामने माफी मांगने में एतराज क्यों है ? सराफ ने कहा कि अगर आधारहीन आरोप लगाना राजनीति में आम हो जाएगा तो इससे राजनीति का स्तर गिरेगा और गलत मैसेज जाएगा. सराफ ने कहा कि राहुल गांधी को देश की जनता से माफी मांगनी ही चाहिए.
चौकीदार चोर है नारे के साथ कांग्रेस ने जो आरोप लगाए उनका जवाब देते हुए पूर्व मंत्री और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रहे अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब यह साफ हो गया है कि चौकीदार प्योर है और अगर राहुल गांधी के आरोप झूठे हैं तो कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष को माफी मांगने से गुरेज नहीं करना चाहिए.राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद बीजेपी को नया मुद्दा मिल गया है और आने वाले दिनों में बीजेपी इस मुद्दे को लेकर अपने कार्यकर्ताओं को सक्रिय करते हुए निचले स्तर तक पार्टी में जान फूंकने की कोशिश में दिखाई देगी.